Ticker

6/recent/ticker-posts

मंझिला टोल के समीप टूटने वाला था जमींदारी बांध, ग्रामीणों ने बचाया

बेनीपट्टी(मधुबनी)। नेपाल के तराई इलाको और मधुबनी में लगातार हो रहे झमाझम बारिश से नदियां उफान पर है। प्रखंड के धौंस, ककुरा, बछराजा, थुम्हानी, खिरोई सहित अन्य नदियों के जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि हुई है। जिसके कारण नए नए इलाकों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। साथ ही पानी के दबाव के कारण कई स्थानों पर बांध टूटने के कगार पर है। शुक्रवार को पाली मंझिला टोल के समीप नदी के पानी में दबाव के कारण जमींदारी बांध टूटने के कगार पर पहुंच गया था। जिससे के कारण मंझिला टोल सहित आस पास के गांवों और टोला में लोगों के बीच हड़कंप मच गई थी। हालांकि ग्रामीणों ने काफी मेहनत और प्रयास कर शीशम और मारर पेड़ तथा मिट्टी देकर कैसे भी करके तत्काल बांध को टूटने से बचा लिया। जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली। इधर, बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल विभाग को भी उस स्थल पर बांध को और मजबूत करने की सूचना दी गई है। बता दें कि पहले से ही कई गांव बाढ़ से तबाह है, अब नए इलाकों में संकट मंडराने लगा है। पाली, सलहा, रानीपुर, चानपुरा, बगवासा, सोनहौली, नजरा, मेघवन, बर्री, माधोपुर, रजघट्टा, लडूगामा, बाजितपुर, रजवा, समदा इस्लामियां, करहारा, सोहरौल, जगत, बेतौना, बेहटा, बनकट्टा, दामोदरपुर, गंगुली सहित अन्य गांव के लोग बाढ़ के मार से सहम गए है। पाली मंझिला टोल सहित अन्य स्थानों पर नदियों के जलस्तर में वृद्धि होने तथा पानी फैलने के कारण लोग घर छोड़ आवश्यक वस्तुए लेकर उंचे स्थानों पर शरण ले रहे है। उधर, मलहामोर उच्चैठ, चानपुरा पश्चिम से धनूषी, लडूगामा से भगवतीपुर, शिवनगर से माधोपुर, मकिया-माधोपुर, सोइली घाट से गुलरिया टोल, समदा इस्लामियां से सोहरौल होते हुए उच्चैठ जानेवाली पथ में कटाव और डाइवर्सन पर पानी चढ़ने के कारण पहले से ही यातायात परिचालन पुर्णतः ठप है। इधर, जलस्तर बढ़ने के कारण नए इलाके चानपुरा पश्चिम में भी पानी काफी तेज से गांव में फैल रहा है। मध्य विद्यालय के समीप सड़क पर बाढ़ का पानी चढ़ गया है, जिसके कारण सड़क फिर टूटने की आशंका बनी हुई है। अगर ऐसा हुआ तो चानपुरा पश्चिम का संपर्क पूर्ण रूप से टूट जाएगा। वही लडूगामा-भगवतीपुर पीडब्लूडी सड़क में कटाव होने के कारण संपर्क भंग हो गया है। जबकि भरारी चौक से उच्चैठ जानेवाली बाईपास सड़क में जगत गांव के हनुमान मंदिर सहित तीन स्थानों पर बाढ़ का पानी सड़क पर चढ़ चुका है। साथ ही इस पथ में कई स्थानों पर होल भी बन गया है, जिसके कारण सड़क कटाव होने की भी संभावना जताई जा रही है। जबकि रजघट्टा से बररी जानेवाली पथ पर भी बाढ़ का पानी चढ़ गया है। सीओ प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि जलस्तर पर नजर रखी जा रही है। वही एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि बाढ़ पीड़ितों को हरसंभव मदद की जाएगी।

Post a comment

0 Comments