यज्ञोपवीत मंत्र - जनेऊ मंत्र - वाजसनेयि यज्ञोपवीत मंत्र - छन्दोग जनेऊ मंत्र



यज्ञोपवीत मंत्र - जनेऊ मंत्र - वाजसनेयि यज्ञोपवीत मंत्र - छन्दोग जनेऊ मंत्र

Yagyopavit Mantra Janeu Mantra 

वाजसनेयि यज्ञोपवीत मंत्र :

ॐ यज्ञोपवीतं परमं पवित्रं प्रजापतेर्यत्सहजं पुरस्तात्।

आयुष्यमग्रयं प्रतिमुञ्च शुभ्रं यज्ञोपवीतं बलमस्तु तेजः।।


छन्दोग जनेऊ मंत्र :

ॐ यज्ञोपवीतमसि यज्ञस्य त्वोपवीतेनोपनह्यामि।


जीर्ण यज्ञोपवीत त्याग मंत्र :

ॐ एतावद्दिनपर्यन्तं ब्रह्म त्वं धारितं मया। जीर्णत्वात्तवत्परित्यागो गच्छ सूत्र यथासुखम ।।


जानकारी : संसार मे दु प्रकारके मैथिल (ब्राह्मण) होइत अछि। एकटा छन्दोग आ दोसर, वाजसनेयी। अतः अहि नाम सं दु टा जनेऊ मंत्र सेहो अछि। हमर जानकारी मे छांदोग्य मंत्र बला जनेउ मे 3 परवल आ वाजस्नेयी मे 5 परवल होइत अछि। केतौ केतौ परवल भिन्न भ सकैत अछि।


मिथिला जनेउ, मिथिला उपनयन, उपनयन, जनेउ 

मिथिला विवाह, विवाह तिथि, शुभ विवाह तिथि, मिथिला शादी के दिन, मिथिला शुभ दिन, मिथिला शुभ मुहूर्त

mithila vivah, vivah tithi, shubh vivah tithi, mithila shadi ke din, mithila shubh din, mithila shubh muhurt

#mithila #mithilavivah #mithilashubh #shubhdin #shubhvivah #Mithilashubhvivah #mithilashubhdin #mithilashubhmuhurt #shubhvivahtithi


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here