बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड में जहां गणतंत्रता दिवस समारोह की जमकर तैयारी की जा रही है, वहीं दूसरी ओर प्रखंड कार्यालय परिसर में लगे स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों और सेनानियों का शिलापट्ट प्रशासनिक बदइंतजामी का शिकार हो रहा है। बीते वर्षों में शिलापट्ट का घेराव करने और चबूतरा निर्माण सहित नये सिरे से जीर्णोद्धार किये जाने का निर्देश पूर्व एसडीएम मुकेश रंजन ने बीडीओ को दिया था। उक्त निर्देश का अवहेलना अब तक की गई। जिससे शिलापट्ट उसी स्थिति में पड़ा रह गया। बता दें कि शनिवार से ही समारोह मनाये जाने को लेकर विभिन्न जगहों पर साफ सफाई और रंगरोगन आदि की तैयारियां की जा रही है। सभी कार्यालय परिसर में झंडोतोलन हेतु बने गोलंबर को रंगों से रंगरोगण करने का काम युद्ध स्तर पर जारी है। लेकिन शिलापट्ट के साज सज्जा की कोई जहमत नहीं उठायी जा रही है। जबकि अनुमंडल मुख्यालय में प्रखंड क्षेत्र के सभी स्वतंत्रता सेनानियों या उनके परिजनों को हर साल राष्ट्रीय पर्व पर सम्मानित किया जाता रहा है और ऐसे पर्व पर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ बड़ी संख्या में आम लोग भी उक्त शिलापट्ट पर माल्यार्पण भी करते हैं। गौरतलब है कि उक्त शिलापट्ट पर स्थानीय लोगो के द्वारा कपड़ा सुखाने के लिए उपयोग करने की हकीकत सामने आने पर सीपीआई के अंचल मंत्री सह पंचायत समिति सदस्य ने उक्त शिलापट्ट की सुधि लेकर उक्त समय पर रंग-रोगन कराया था। कई लोगों ने बताया कि अगर सही मायनों में स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को सम्मानित किया जाता है तो यह भी आवश्यक है कि उनके शिलापट्ट के आस पास भी साफ सफाई कर आकर्षक ढंग से साज सज्जा कर उसका सम्मान किया जाये। इन दिनों प्रखंड कार्यालय से इस शिलापट्ट के समीप होते हुए पशु चिकित्सा कार्यालय तक जानेवाली सड़क में मिट्टीकरण कराया जा रहा है। जिसके कारण शिलापट्ट पर स्वतंत्रता सेनानियों का नाम अंकित कुछ भाग मिट्टी में ढंकने के कगार पर पहुंच चुका है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post