बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड के सोहरौल सीमा होकर बहने वाली धौंस और ककुरा नदी आस पास के गांवों में तबाही मचाना शुरू कर दिया है। एक तरफ जहां बाढ़ का पानी गांव में घुस चुका है, वही दूसरी ओर कई घर बाढ़ के पानी में घिर चुके है। हालांकि घर के लोग वहां से निकलकर उंचें स्थान पर दुसरे के घरों में शरण लिए हुए है। जानकारी के अनुसार बेनीपट्टी प्रखंड के सोहरौल और मधवापुर प्रखंड के त्रिमुहान सीमा  के निकट से धौंस नदी गुजरती है। नदी का तटबंध 2019 में आये प्रलंयकारी बाढ़ में आधा किलोमीटर की दूरी में तीन जगह टूट गया था। जिसका अब तक मरम्मती नही कराया गया। तटबंध के टूटान स्थल को दुरूस्त नही किए जाने के कारण नदी का पानी सीधे आधा दर्जन गांवों को अपना निशाना बना रहा है। धौंस और ककुरा नदी में जलस्तर काफी अधिक बढ़ने तथा तटबंध की मरम्मती एक वर्ष बाद भी नही किए जाने के कारण समदा, सोहरौल और समदा इस्लामियां टोला में बाढ़ का पानी घुसना शुरू हो गया है। उच्चैठ, सोहरौल होते हुए समदा इस्लामियां जाने वाला पथ भी तटबंध के निकट टूट जाने के कारण गांव का संपर्क प्रखंड मुख्यालय से भंग हो चुका है। अब केवल त्रिमुहान और बसैठ होते हुए जाने का एक मार्ग बचा हुआ है, वह भी धौंस नदी द्वारा बनाएं जा रहे दबाव के कारण कभी भी टूट सकता है। इधर, नदी का पानी गांव में फैलने के कारण मुसर्रत बानो, राजिक, मो. सगीर, वकील अंसारी, मो. अबुलेश, प्रभु पासवान, मो. आरजू सहित दर्जनों लोगों का घर पानी से घिर चुका है। इस्लामियां के मो. उजाले ने बताया कि आधा दर्जन से अधिक गांव बाढ़ के पानी से घिर गया है। आने जाने का रास्ता नही है। प्रशासनिक पदाधिकारियों को बारंबार नांव उपलब्ध कराने का आग्रह किया गया है, मगर अबतक कोई संज्ञान नही लिए है। उधर, सीओ प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि जलस्तर पर लगातार नजर है। लोगों को समस्या नहीं होने दी जाएगी।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post