बेनीपट्टी(मधुबनी)। एमएसयू के राघवेन्द्र रमण ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि बिहार सरकार मिथिला विरोधी के साथ साथ गरीब व किसान विरोधी है। जिसका परिणाम है कि इस क्षेत्र के लोगों को हर वर्ष बाढ़ से जूझना पड़ता है। किसानों के खेत में लगे  फसल चौपट होने के साथ गरीबों को रात्रि निवास की समस्या हो जाती है। श्री रमण ने कहा कि  हरलाखी विधानसभा क्षेत्र के मधवापुर प्रखंड होते हुये दो नदी गुजरती है, एक धौंस नदी और रातों नदी। इन दोनों नदी में बाढ़ से पूर्व बांध नही बनवाने व जहाँ बांध है वहाँ मरमत नही करने के कारण नेपाल में जब भी बारिश होती है या नेपाल से पानी को छोड़ा जाता है तब तब इस इलाको में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। वर्तमान में बिहार के किसी क्षेत्रों में बाढ़ का स्थिति व आवागमन बाधित नही हुई है पर मधवापुर प्रखंड में ये दोनों हो गया है। श्री रमण ने कहा कि हरलाखी विधानसभा के विधायक जो जदयू के मुख्य सचेतक भी है पर इनके द्वारा भी इस नदियों के बांध के लिए कभी भी पहल नहीं किया गया जब बाढ़ आ गया तो फ़ोटो शूट करवाने क्षेत्र में निकल लिए है। एमएसयू लगातार इस तरह के मुद्दे को उठाने का काम किया है। लेकिन, कोई पहल नहीं होने के कारण समस्या जस के तस है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post