प्रशासन की लापरवाही के कारण अतिक्रमण व गंदगियों से पटा है बेनीपट्टी बाजार - BNN News

Latest

15 Mar 2020

प्रशासन की लापरवाही के कारण अतिक्रमण व गंदगियों से पटा है बेनीपट्टी बाजार



बेनीपट्टी (मधुबनी)। जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी के लापरवाही एवं उदासीनता के कारण बेनीपट्टी बाजार की स्थिति नारकीय होती जा रही है। हल्की बारिश में एक ओर जहां पूरा बाजार किचड़मय की स्थिति में हो जाती है। वहीं दूसरी ओर सड़कों के किनारे पटा कचरा सड़कों पर आ फैल जाता है। बाजार से अतिक्रमण की समस्या तो मानो विपत्ति का पहाड़ बन गया है। जिसे कोई तोड़ना ही नहीं चाह रहा है। सिनेमा हॉल के समीप कचरों का अंबार लगा हुआ है। जो प्रशासन की स्वच्छता अभियान की हवा निकाल रहा है। बावजूद प्रशासन स्वच्छता अभियान को धरातल पर उतारने में एड़ी-चोटी किए हुए है। बस पड़ाव का मामला वर्षों से प्रशासन के फाईलों में ही धूल फांक रहा है। स्थानीय लोगों की माने तो प्रशासन सिर्फ हवाबाजी कर रही है।

लोहिया चैक से उत्तर जाना हुआ मुश्किल
स्वच्छता अभियान को धरातल पर सफल करने के लिए प्रयासरत अधिकारियों को लोहिया चैक से उत्तर प्रखंड को जाने वाली सड़क की स्थिति के संबंध में शायद जानकारी नहीं है। उक्त सड़क की स्थिति इतनी बद्तर है कि पांव-पैदल तो दूर बाईक से भी आवाजाही करने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। हालांकि, विगत कुछ दिन पूर्व समाजसेवियों ने उक्त स्थल पर जमे कचरा को साफ करा कर वृक्षारोपण किया था। लेकिन कुछ ही दिनों में स्थिति पूर्व की भांति हो गई। 

अतिक्रमणकारियों के मनोबल के आगे प्रशासन बेबस
अतिक्रमण की समस्या को खत्म कराने के लिए कई बार हुई बैठक के बाद भी बाजार से अतिक्रमण की समस्या खत्म नहीं हो पायी। अलबत्ता, प्रशासन के उदासीनता के कारण बाजार के नए-नए जगहों पर अतिक्रमण लगना प्रारंभ हो गया। यूं तो पूरे बाजार में अतिक्रमण की समस्या बन गई है, लेकिन लोहिया चैक, थाना चैक, शहीद भवन, इंदिरा चैक, बेहटा हाट समेत कई अन्य जगहों पर अतिक्रमण भयावह रुप ले चुकी है। पूर्व में जहां शहीद भवन इस समस्याओं से मुक्त थी, वहीं विगत कुछ माहों से उक्त सार्वजनिक स्थल भी अतिक्रमित हो गया है। विडंबना है कि जिस अतिक्रमण को रोकने के लिए पुलिस विभाग भी जिम्मेदार होती है। उक्त पुलिस थाना के सामने ही अतिक्रमण का खेल किया जा रहा है। बावजूद इस समस्याओं के प्रति पुलिस कुछ भी नहीं कर पा रही है।

बस पड़ाव का सपना, कब होगा पूरा अपना
अनुमंडल का दर्जा प्राप्त किए 37 वर्ष गुजर जाने के बाद भी बेनीपट्टी में बस पड़ाव का सपना अब तक पूरा नहीं हो पाया है। बस पड़ाव के लिए संसारी चैक पर स्थल का भी चयन करने का दावा किया गया। मिट्टीकरण भी कराई गई, लेकिन उक्त पहल रंग नहीं ला सकी। बस पड़ाव नहीं होने से आज भी बेनीपट्टी में स्टेट हाईवे के किनारे भारी वाहनें बदस्तूर लगाई जा रही है। जिसके कारण आए दिन जाम की समस्या से लोगों को जूझना पड़ता है।

अधिकारियों ने कहा, समस्याओं का होगा निदान
बेनीपट्टी के मूलभूत समस्याओं पर एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि बाजार की सभी समस्याओं का निदान करा दिया जाएगा। वहीं अंचलाधिकारी प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि अतिक्रमण को लेकर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment