बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी के साहरघाट में संचालित दरभंगा हेल्थ केयर क्लिनिक के चिकित्सक पर मरीज के साथ मनमानी करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में परिजन ने एसडीएम को आवेदन देकर दरभंगा हेल्थ केयर के चिकित्सक पर काररवाई की जाने की गुहार लगाई है। मिली जानकारी के अनुसार सात अक्टूबर को पिहवाड़ा के ललन सिंह अपनी गर्भवती बेटी अमृता देवी के पीड़ा होने पर दरभंगा हेल्थ केयर लेकर आये। बताया गया है कि गर्भवती को प्रसव होने में करीब बीस दिन का समय और था। चिकित्सक रकीब अहमद ने पीड़िता की बिना जांच किये उसके पिता को ऑपरेशन करने और इसके लिए 30 हजार रुपये बतौर फीस जमा करने को कहा। चिकित्सक के कहने पर पीड़िता के पिता ने पैसे का इंतजाम कर लिया, लेकिन ऑपरेशन से पूर्व जब डॉक्टर ने एक स्वीकृति बॉन्ड फॉर्म दिया और कहा कि इस पर हस्ताक्षर कीजिये कि जच्चा और बच्चा के साथ ऑपरेशन के दौरान होने वाले खतरे के लिए हम स्वयं जिम्मेवार होंगे। तब परिजन को गड़बड़ी होने का संदेह बढ़ गया। पीड़िता के पिता ने ऑपरेशन कराने से इनकार किया और गर्भवती को हॉस्पिटल से छोड़ देने को कहा। बताया जा रहा है कि इसी बात पर चिकित्सक भड़क गए और उसे वहां से धक्का मारकर भगा दिया। जिस पर दोनों के बीच कुछ देर के लिए जमकर कहासुनी व हंगामा हुआ। फिर,हो हंगामा सुनकर पहुंचे कुछ स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप से स्थिति पर नियंत्रण पाया जा सका। वही स्थानीय लोगों ने बताया है कि इससे पहले भी उस तरह के मामले को लेकर हंगामा हो चुका है। अस्पताल प्रबंधन द्वारा बाकई गड़बड़ी की जाती रही है। लाचार और गरीब मरीजों से पैसा ऐंठने का काम किया जाता रहा है। एक एक इमरजेंसी मरीज से 30 हजार से एक लाख  रूपये तक वसूले जाते हैं। इन लोगों ने  प्रशासन से बिना सर्जन के असुरक्षित डिलेवरी कराने और अनधिकृत तरीके से संचालित इस क्लिनिक के जांच की मांग की है। इधर आरोप के संबंध में क्लिनिक के चिकित्सक डा. रकीब अहमद ने बताया कि आरोप गलत है। हमने किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं बनाया है और सही तरीके से लोगों का इलाज़ किया जाता है। कुछ चिकित्सक के बहकावे में आकर मेरे हॉस्पिटल को बदनाम किया जा रहा है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post