प्रशासन के नाकामी से बेनीपट्टी में रोजाना लग रहा सड़कों पर वाहनों का मेला - BNN News

Latest

25 Apr 2018

प्रशासन के नाकामी से बेनीपट्टी में रोजाना लग रहा सड़कों पर वाहनों का मेला

बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रशासन की निष्क्रियता के कारण लोग आजिज हो गए है। लोगों को रोजाना सड़कों पर जाम की समस्या से रु-ब-रु होना पड़ रहा है। लोग प्रशासन को कोस कर भारी समस्याओं व कड़े धूप का सामना कर जाम से निकल कर चले जाते है। वहीं सड़कों पर लग रहे आए दिन जाम की समस्या विकराल स्वरुप पकड़ती जा रही है। बावजूद प्रशासन पहल तो दूर सड़क के किनारों लगने वाले वाहनों पर नकेल तक नहीं कस पा रही है। प्रशासन की निष्क्रियता के कारण बस चालकों व बस इंचार्ज की चांदी कट रही है। सड़कों पर वाहन खड़ा कर बस चालकों से उगाही की जा रही है। सड़कों पर भारी वाहन के खड़ा होने से आए दिन बाजार में जाम की समस्या हो रही है। कड़े धूप में लोगों को प्रशासन की लापरवाही के कारण परेशानी झेलनी पड़ रही है। जानकारी दें कि बेनीपट्टी को अनुमंडल का दर्जा प्राप्त किए 35 वर्ष से अधिक का समय हो जाने के बाद भी बेनीपट्टी अनुमंडल में बस पड़ाव की समस्या का निपटारा अब तक नहीं हो पाया है। इसी से प्रशासनिक कार्य क्षमता का अंदाजा लगाना सहज है। जबकि अनुमंडल प्रक्षेत्र के सभी प्रखंडों में बस पड़ाव का निर्माण पूर्ण हो चुका है। करीब पंद्रह वर्ष पूर्व तत्कालीन एसडीएम अबुल हसन ने बस पड़ाव के लिए पहल किया, वहीं कई अन्य पदाधिकारियों ने भी स्थल जांच से लेकर संसारी पोखरा के किनारे मिट्टीकरण तक कराया, लेकिन सही समय पर रिपोर्ट नहीं भेजे जाने एवं प्रशासनिक रुची नहीं होने के कारण बस पड़ाव का सपना पूरा नहीं हो सका। बता दें कि स्थानीय बेनीपट्टी में बस पड़ाव नहीं होने के कारण बेनीपट्टी के लोहिया चौक, सिनेमा चौक व थाना चौक के समीप अवैध रुप से गाड़ी का एसएस-52 पथ पर खड़ा किया जाता है। पूर्व उपप्रमुख रामविनय प्रधान, राजद के पूर्व अध्यक्ष विजय कुमार यादव, संतोष कुमार सुमन, विजय कुमार झा समेत कई लोगों ने बताया कि बेनीपट्टी में मूलभूत सुविधाओं की कमी को अब तक पूरा नहीं किया जा सका है। बस पड़ाव नहीं होने के कारण बाजार की समस्या यथावत बनी हुई है। वहीं महादलित नेता रामवरण राम, छात्र नेता चंदन सिंह, लोजपा के प्रखंड अध्यक्ष सुनील झा ने बताया कि प्रशासन अपनी नाकामी को छूपाने के लिए हमेशा बस पड़ाव का प्रस्ताव भेजे जाने का आश्वासन देता है। उन्होंने हैरत जताते हुए कहा कि एक प्रस्ताव, जो बीस वर्ष से भेजी जा रही है, अब तक उक्त प्रस्ताव पर अमल करने का कोई निर्देश नहीं आया।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें