उच्चैठ मध्य विद्यालय में प्रभारी के आदेश से बंद रहा स्कूल, मूल्यांकन से गायब रहे शिक्षक - BNN News

Breaking

24 Mar 2018

उच्चैठ मध्य विद्यालय में प्रभारी के आदेश से बंद रहा स्कूल, मूल्यांकन से गायब रहे शिक्षक

बेनीपट्टी (मधुबनी)। शिक्षा विभाग के अड़ियल रवैया के कारण प्रखंड के सरकारी स्कूलों में मनमानी की जा रही है। अधिकारियां के मिलीभगत से स्कूल का संचालन इस कदर की जा रही है, कि विभाग की तमाम योजनाएं व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दम तोड़ रही है। प्रखंड के बेतौना पंचायत के उच्चैठ स्थित मध्य विद्यालय का संचालन भी इसी आधार पर की जा रही है। जहां शिक्षकों व एचएम के मनमानी पूर्वक रवैया के कारण शिक्षा धरातल पर नहीं उतर पा रही है। कारण पूछे जाने पर शिक्षक एक-दूसरे पर दोषारोपण कर बचते नजर आए। शुक्रवार को स्कूल का संचालन किए जाने के बावजूद एचएम व अन्य शिक्षकों के मिलीभगत से स्कूल को अघोषित तौर पर बंद कर दिए गये थे। शुक्रवार को करीब साढ़े ग्यारह बजे स्कूल पहुंचने पर स्कूल में एक भी छात्र उपस्थित नहीं थे। स्कूल के कमरों में विभाग की ओर से दिए गए बड़े-बड़े ताले झूल रहे थे। उधर स्कूल में अचानक मीडियाकर्मी के आने की सूचना पर दौड़े आए एचएम विन्देश्वर मोची ने स्कूल से बच्चों की अनुपस्थिति पर एक अलग ही दुखड़ा सुनाने लगे। एचएम ने बताया कि संकुल स्तर पर मूल्यांकन कार्य होने के कारण स्कूल को बंद कर दिया गया है। विभागीय आदेश के संबंध में पूछे जाने पर एचएम ने बताया कि बंदी उन्होंने अपनी मर्जी से किया है। एचएम ने बताया कि शुक्रवार को मात्र एक सौ छह छात्र उपस्थित हुए थे। शिक्षकों को मूल्यांकन में होने के कारण छात्रों को छुट्टी दे दी गयी। उधर दो मंजिले भवन पर मूल्यांकन कार्य करा रहे समनव्यक कमोद कुमार मिश्रा कुर्सी पर बैठ आराम फरमाते दिखे। पूछे जाने पर बताया कि शिक्षक मूल्याकंन कार्य कर रहे है। जबकि मूल्याकंन कक्ष में प्रतिनियुक्त छह शिक्षक अनुपस्थित पाए गए। जिससे साफ है कि न तो मूल्यांकन कार्य सही रुप से कराया जा रहा है, ओर न ही छात्रों को शिक्षा दी जा रही है। सूत्रों की माने तो संकुल समनव्यक मनमानी पूर्वक मूल्याकंन कार्य करा रहे है। जानकारी दें कि उच्चैठ स्थित मध्य विद्यालय में फिलहाल चार सौ छह छात्र व छात्राएं नामांकित है। जिन्हें शिक्षा देने के लिए शिक्षकों की फौज तैनात कर दी गयी है। लेकिन शिक्षकों के अड़ियल रवैया के कारण  स्कूल में विभाग का सारा दिशा-निर्देश दम तोड़ चुका है। उधर स्कूल को अघोषित बंद रखने के शिकायत पर एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि बीईओ को एचएम समेत मूल्याकंन कार्य से अनुपस्थित शिक्षकों से स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया है। उधर बीईओ ने बताया कि अनुपस्थित शिक्षकों को स्पष्टीकरण कर जवाब मांगा जाएगा। संतोषप्रद जवाब नहीं आने पर विधि-सम्मति कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें