Ticker

6/recent/ticker-posts

मधवापुर में टूटा बांध, कई घरों में घुसा बाढ़ का पानी

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बाढ़ की सारी तैयारी धरी की धरी रह गयी है। नेपाल से निकली पानी के दबाव से मधवापुर के सबरौली गांव के रामजानकारी मंदिर के समीप बांध करीब 15 फीट में ध्वस्त हो गया है।मधवापुर में करीब चार जगहों पर धौंस नदी का तटबंध टूठने की जानकारी दी गयी है। स्थिति काफी खराब बतायी जा रही है।बांध के ध्वस्त होने से पिहवारा, करहुआंघाट, बैंगरा सहित कई गांव में पानी घुस गया है।लोगों के घरो में पानी घुस जाने से स्थिति विकट हो गयी है।मधवापुर-हरलाखी एनएच पर पानी चढ गया है।मधवापुर सीओ दल-बल के साथ बांध की सुरक्षा एवं जानमाल को सुरक्षित करने के लिए लगातार क्षेत्र का दौरा कर रहे है।उधर आक्रोशित लोगों ने प्रशासन के खिलाफ साहरघाट के नेताजी चौक पर सड़क जाम कर दिया है।प्रशासन लोगों को मनाने में जुटी हुई है।उधर नेपाल के जलअधिग्रहण क्षेत्र से पानी एवं क्षेत्र में भारी बारिश के कारण बेनीपट्टी स्थित अधवारा समूह की सभी सहायक नदियों का जलस्तर तेजी बढ़ रहा है।लोग बाढ़ की संभावना को लेकर दहशत में है। अधवारा समूह की बछराजा व धौंस नदी का पानी तेजी से बढ़ रहा है।प्रखंड के लदौत, देपुरा, सरिसब, नवटोली, कटैया, जरैल, मधवापट्टी , बरहा सहित एक दर्जन से अधिक गांवां में पानी घुस जाने की जानकारी दी गयी है।उधर प्रखंड के पश्चिमी क्षेत्र के करीब सात पंचायत के लोग जलजमाव एवं पानी की तीव्रता से सहमें हुए है।स्थानीय लोगों की माने तो प्रशासन बाढ़ से बचाव के लिए अपने स्तर पर कोई कार्य नहीं किया था।लोगों ने बताया कि बांध पूर्व से ही जर्जर हालत में है।पानी की तेज बहाव को संभाल पाना बांध के बूते से बाहर है।वहीं बेतौना पंचायत के कछड़ा गांव में दर्जनों घरों में पानी प्रवेश कर गया है।मदरसा में पानी घुस जाने के कारण मदरसा को स्थानीय स्तर पर बंद कर दिया गया है।बच्चों को बाहर निकलने से मना कर दिया गया है।उधर बेनीपट्टी-अकौर पथ के रत्ना चौक पर तेजी से पानी का बहाव हो रहा है।वहीं उच्चैठ स्थित थुम्हानी नदी पर निर्माण हो रहे पूल के बगल में निर्मित डायवर्सन पूरी तरह कटाव कर चुका है।बेनीपट्टी-साहरघाट का संपर्क कट चुका है।इस संबंध में पूछे जाने पर अनुमंडल पदाधिकारी मुकेश रंजन ने बताया कि मधवापुर में दो जगहों पर बांध के टूटने की सूचना मिली है।सीओ व बीडीओ को मौके पर भेजकर स्थिति पर नियंत्रण करने का निर्देश दिया गया है।वहीं एसडीएम ने बताया कि बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, झंझारपुर के अभियंता को तत्काल बांध की मरम्मति कराने का निर्देश दिया गया है।अनुमंडल प्रशासन हर हाल में बाढ़ से निपट लेगी।



Post a Comment

0 Comments