अधिकारियों ने किया गर्भाशय मामले की जांच - BNN News

Latest

17 Apr 2016

अधिकारियों ने किया गर्भाशय मामले की जांच

बेनीपट्टी(मधुबनी)। कन्हैया मिश्रा : राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के स्मार्ट कार्ड पर वर्ष 2011-12 के विभिन्न नर्सिग होम में गर्भाशय के आॅपरेशन कराने के मामले की जांच बेनीपट्टी के पीएचसी के संघ भवन में एसडीएम राजेश परिमल के समक्ष मरीजों से पूछताछ कर की गयी।चिकित्सा पदाधिकारी डा.आरके सिंह ने सभी उपस्थित लाभूकों से आॅपरेशन कराने की क्यों जरुरत पडी,नाम,उम्र,पता, आॅपरेशन हुई की नहीं ,आॅपरेशन कराने के बाद होनी वाली शारीरिक समस्याओं के संबंध में पूछताछ कर जिला से मिले काॅलम में कलमबद्ध कर किया।शनिवार की सुबह से ही जांच टीम के समक्ष बयान देने के लिए महिलाऐं कतार बनाकर पीएचसी पहुंची थी।अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि बाल विकास परियोजना के आंगनबाडी सेविका व पीएचसी के एएनएम व आशा से लाभूकों की सूची देकर लाभूकों का सत्यापन कराया गया तो कुल 13 लाभूकों के संबंध में किसी प्रकार की जानकारी नहीं मिली है।जांच के दौरान कई महिलाओं ने चिकित्सकों को आॅपरेशन के बाद होने वाली समस्याओं के संबंध में कलमबद्ध कराया तो कई महिलाओं ने नर्सीग होम से स्मार्ट कार्ड वापस नहीं  देने की जानकारी दी।सूत्रों  की माने तो परजुआर के दहिला के ललिता कुमारी का नाम लाभूकों की सूची में नाम शामिल है,जबकि परिजन का कहना है कि ललिता कुमारी अभी मात्र 15 वर्ष की है ओर अविवाहित है,फिर गर्भाशय के आॅपरेशन कैसे करायी जा सकती है,वहीं अंधरी के तेतरी देवी ने आॅपरेशन कराने की बात कहते हुए नर्सीग होम के चिकित्सक के द्वारा आॅपरेशन के उपरांत स्मार्ट कार्ड वापस नहीं करने का आरोप लगाया।वहीं अरेर के ब्रह्येतरा के गुलबिया देवी ने आॅपरेशन के बाद किसी भी प्रकार की सुविधा नहीं देने की बात कहीं.जानकारी दें कि बेनीपट्टी प्रखंड में कुल 161 लाभूकों का नाम आॅपरेशन कराने की सूची में आयी है।मौके पर बीडीओ डा.अभय कुमार,सीडीपीओ संगीता कुमारी,स्वास्थ्य प्रबंधक रेजाउर रहमान,एलएस सरिता देवी सहित कई कर्मी मौजूद थे।

No comments:

Post a comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें