मुजफ्फरपुर के कुढ़नी विधानसभा सीट पर हुए उप चुनाव में बीजेपी ने जेडीयू को बड़ा झटका दिया है. बीजेपी उम्मीदवार केदार प्रसाद गुप्ता ने जेडीयू के मनोज कुशवाहा को शिकस्त दे दी है जो नीतीश कुमार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. जिसके बाद राजधानी पटना से लेकर बिहार के तमाम जिलों में बीजेपी नेता व कार्यकर्ताओं जमकर इस जीत पर जश्न मना रहे हैं.

इसी कड़ी में बिहार विधान परिषद के सदस्य घनश्याम ठाकुर ने कुढ़नी में बीजेपी की जीत पर ख़ुशी प्रकट करते हुए बिहार के सीएम नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग कर दी है. घनश्याम ठाकुर ने कुढ़नी में बीजेपी की जीत को आधार बताते हुए नैतितिकता के आधार पर सीएम नीतीश से इस्तीफे की मांग की है. श्री ठाकुर ने कहा कि जिस तरह से नीतीश कुमार ने बिहार की जनता के जनादेश के साथ छल कर राजनीति में निजी स्वार्थ के लिए जनता के साथ धोखा किया, यह कुढ़नी का परिणाम नीतीश कुमार को आईना दिखाने का काम करेगी.

अगर सीएम आईने के तौर पर इस परिणाम को नहीं देख पाएंगे तो यह समझा जाय कि वह राजनितिक स्वार्थ के कारण राजनितिक रूप से अंधे हो चुके हैं, जिन्हें सिर्फ कुर्सी नजर आती है. नीतीश कुमार को चोला उतारकर जनता के इस जनादेश का आंकलन करें और समय रहते इस्तीफा दें अन्यथा आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में जनता स्वयं इन्हें कुर्सी से उतार फेंकेगी.

जानकारी के लिए बता दें कि इस साल अगस्त में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी से गठबंधन तोड़ लिया था और महागठबंधन के साथ सरकार बनाई थी, जिसके बाद कुढ़नी उपचुनाव का यह परिणाम बीजेपी के लिए एक बड़ी जीत मानी जा रही है. उपचुनाव में लोगों ने जनता दल यूनाइटेड को पूरी तरीके से नकार दिया. गौरतलब है, नीतीश कुमार ने पार्टी के उम्मीदवार के लिए इस सीट पर जोरदार प्रचार किया था.

दिलचस्प बात यह है कि नीतीश कुमार के एनडीए गठबंधन से बाहर होने के बाद बिहार में यह पहला चुनाव था जहां जनता दल यूनाइटेड का सीधा मुकाबला बीजेपी से था.  

बीजेपी ने इस मुकाबले में जोरदार जीत दर्ज की. कुढ़नी उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने जनता दल यूनाइटेड के उम्मीदवार को 3632 मतों के अंतर से हराया है. बीजेपी उम्मीदवार केदार प्रसाद गुप्ता ने 76648 वोट हासिल किए जबकि जेडीयू उम्मीदवार मनोज कुशवाहा को 73016 वोट मिले.

1

इससे पहले नवंबर में गोपालगंज और मोकामा में उपचुनाव हुए थे जहां दोनों सीटों पर बीजेपी का सीधा मुकाबला आरजेडी से था. बीजेपी ने आरजेडी को हराकर गोपालगंज सीट बरकरार रखी थी, जबकि आरजेडी ने मोकामा सीट जीता था.

निषाद नेता मुकेश साहनी की विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) जिसने इस सीट से भूमिहार जाति के नीलाभ कुमार को मैदान में उतारा था वो भूमिहार वोटों को विभाजित करने में विफल रही और बीजेपी को जीत मिल गई. नीलाभ को 9988 वोट मिले हैं.

इस उपचुनाव में असदुद्दीन ओवैसी का भी कोई खास जादू नहीं चला. ओवैसी ने भी गुलाम मुर्तजा को चुनावी मैदान में उतारा था मगर उन्हें केवल 3202 वोट मिले. इस जीत के साथ ही विधानसभा में बीजेपी विधायकों की संख्या 78 हो गई है, जो आरजेडी से सिर्फ एक कम है.

2

गौरतलब है कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कुढ़नी में चुनाव प्रचार के दौरान मतदाताओं से जनता दल यूनाइटेड के उम्मीदवार को वोट देने की भावनात्मक अपील भी की थी और कहा था कि वह उपचुनाव में महागठबंधन की जीत की खुशखबरी अपने पिता और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद को देना चाहते थे, जिनका हाल ही में सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन हुआ था, लेकिन ऐसा लगता है कि तेजस्वी की इस अपील का मतदाताओं पर कोई असर नहीं हुआ.

उपचुनाव के नतीजे के बाद बीजेपी राज्यसभा सांसद और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी नीतीश कुमार पर हमला किया है और उन्हें इस्तीफा देने के लिए कहा है.


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post