बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी के शिवनगर स्थित राजकुमारी-ताराकांत औधोगिक प्रशिक्षण संस्थान के रास्ते का विवाद को सुलझाने के लिए स्थानीय स्तर पर प्रयास शुरू हो गया है। कई दिनों से जारी पहल के बाद शुक्रवार को उक्त  कथित रास्ते पर मिट्टीकरण का कार्य शुरू कराया गया है। फिलहाल, स्थानीय लोगों ने आपसी चंदा कर रास्ते पर मिट्टीकरण शुरू किया है। इस कार्य में बसैठ के पूर्व पैक्स अध्यक्ष सह भाजपा नेता उमाशंकर गुप्ता, शिवनगर के समाजसेवी संतोष झा की भूमिका काफी सकारात्मक रही। दोनों ने बताया कि आईटीआई केंद्र पूर्व सभापति पंडित ताराकांत झा के अथक प्रयास से हुआ था। निर्माण के नौ साल होने के बाद भी आईटीआई के लिए रास्ते की समस्या थी। रास्ते के समस्या के कारण आईटीआई केंद्र के भविष्य पर ग्रहण लगने की संभावना बन गयी थी। जो इस क्षेत्र के लिए काफी पीड़ादायक साबित होती। ऐसे में स्थानीय स्तर पर भूमिस्वामियों से वार्ता कर फिलहाल चंदा कर मिट्टीकरण कराया जा रहा है। आगे सरकार की योजना से पथ का भी निर्माण कराया जाएगा।

1

उधर, आईटीआई केंद्र के रास्ता का कार्य शुरू होने की सूचना पर भाजपा के एमएलसी घनश्याम ठाकुर भी पहुँचे। उन्होंने बताया कि पूर्व सभापति पंडित ताराकांत झा शिक्षा के प्रति काफी उच्च सोंच रखते थे। जिसके कारण वे जमीन देकर यहां आईटीआई केंद्र खुलवाया। ताकि, इस क्षेत्र के छात्रों को कोई समस्या न हो और क्षेत्र विकसित हो। उन्होंने कार्य शुरू कराने पर स्थानीय लोगों को बधाई का पात्र बताया।

2

गौरतलब है कि उक्त आईटीआई केंद्र वर्ष-2010-11 में छह करोड़ 33 लाख के लागत से निर्माण हुई थी। लेकिन, रास्ता के विवाद के कारण ओझल होने के कगार पर थी। रास्ता विवाद को खत्म करने के लिए कई बार प्रशासनिक स्तर पर जमीन मालिको से वार्ता हुई। लेकिन, कोई भी वार्ता सफल नहीं हो पा रही थी। हालांकि, अभी भी देखना होगा कि, कराये जा रहे मिट्टीकरण कहाँ तक हो पाती है और रास्ता की समस्या कब तक स्थायी तौर पर खत्म हो पाती है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post