बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड के उच्चैठ स्थित उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक की शाखा ने जीविका दीदियों को शुक्रवार को वित्त समूह संपोषण के तौर पर 40 समूहों के लिये 40 लाख रुपये का ऋण दिया। ये उक्त ऋण 40 स्वयं सहायता समूहों के लिये दिया गया है, जिसे जीविका दीदी के द्वारा वितरण कर ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का काम करेगी। उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक के सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक अमरनाथ कुमार व शाखा प्रबंधक शशिकांत शर्मा, सहायक शाखा प्रबंधक अजित कुमार, शाखा के कार्यालय सहायक आरती कुमारी ने जीविका डीपीएम ऋचा गार्गी के समक्ष जीविका दीदियों को ऋण का चेक सौंपा। 

1

इस दौरान डीपीएम गार्गी ने कहा कि वर्ष 2007 से ही ग्रामीण क्षेत्रों में जीविका दीदियां महिलाओं का स्वयं सहायता समूहों का गठन करवाकर लघु कुटीर उद्योग के माध्यम से महिला उत्थान व सशक्तिकरण के कार्य को पूरी दक्षता से करती आ रही है। बैंक के लिये भी जीविका दीदी एक भरोसेमंद ग्राहक के रूप में उभरी है। जीविका दीदियां बैंक से जो ऋण लेती है उसे ग्रामीण महिलाओं के समूह में वितरण कर छोटे-छोटे उद्योग में उपयोग करने को प्रेरित करती है और महिलाओं को दैनिक बचत की प्रेरणा देकर आत्म निर्भर भी बनाने का काम कर रही है। ससमय ऋण की वसूली कर बैंक को चुकता करने का भी काम करती है। इन दिनों बैंक और जीविका दोनों का काम एक दूसरे से बेहतर तरीके से संपादित करती है, जो दोनों के लिये लाभकारी होता है। डेढ़ करोड़ रुपये का ऋण भी प्रस्तावित है और उम्मीद करते हैं कि जल्दी ही वह भी स्वीकृत हो जायेगा, जिससे जीविका को और सहूलियत होगी। वहीं एआरएम ने कहा कि जीविका दीदियों का लेन-देन पूर्णतया व्यवसायी है और समय से बैंक को ऋण की राशि लौटा भी देती है  यह सराहनीय है। मौके पर जीविका अधिकारी बेदानंद साह, जीविका के समन्वयक मनीष कुमार यादव, साधुशरण दास, जय कुमार मुखिया, सुरजलाल यादव सहित अन्य लोग भी मौजूद थे।

2


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post