बेनीपट्टी(मधुबनी)। धनतेरस का त्योहार दिवाली से पहले कार्तिक के त्रयोदशी को मनाया जाता है। इस साल धनतेरस का त्योहार दो नवंबर यानी आज मनाया जाएगा। आज धनतेरस पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 6.18 बजे से रात 8.11 बजे तक रहेगा। बता दें धनतेरस के अवसर पर आमतौर पर सोना, चांदी, झाड़ू किचन के बर्तन आदि जैसे समानों की खरीद की जाती है।

1

धनतेरस मनाने के पीछे की क्या है पौराणिक कथा

शास्त्रों में कहा गया है कि समुंद्र मंथन के दौरान कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को भगवान धन्वंतरि अपने दोनों हाथों में कलश लेकर समुंद्र से प्रकट हुए थे। बता दें कि धन्वंतरि को भगवान विष्णु का अंश अवतार माना जाता है। भगवान धन्वंतरि के प्रकट होने के उपलक्ष्य में ही धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि धनतेरस का त्योहार धन के साथ-साथ स्वास्थ्य से भी जुड़ा हुआ है।

2

धनतेरस का त्योहार धन और आरोग्य से जुड़ा हुआ है। इसलिए इस दिन धन के लिए कुबेर और आरोग्य के लिए धनवन्तरि की पूजा की जाती है। इस दिन सभी लोगों शुभ मुहूर्त में मूल्यवान धातु, आभूषण, वाहन, घर, संपत्ति, सोना, चांदी, बर्तन, कपड़े, झाड़ू आदि खरीदते हैं।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post