बेनीपट्टी(मधुबनी)। रात्रि गश्ती दल के साथ खुद एसएचओ भी क्षेत्र का निगरानी करें। इससे लोगों का विश्वास पुलिस पर कायम होता है। वहीं एसएचओ के निकलने से अपराधिक किस्म के व्यक्ति अथवा असमाजिक तत्व के व्यक्ति की पहचान हो जाती है। पुलिस इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बुद्धवार को कार्यालय प्रकोष्ठ में एसएचओ के साथ मासिक अपराध गोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा। पुलिस निरीक्षक ने सभी एसएचओ को विशेष रुप से रात्रि के समय रोको-टोको अभियान पर बल देने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जैसे ही कोई व्यक्ति संदिग्ध अवस्था या देर रात तक टहलते दिखाई दे, तुरंत उसे रोक कर जांच करें। उसके संबंध में घर के लोगों से बात कर उसकी शिनाख्त करें। इससे गृहभेदन के साथ कई अपराधिक मामलों पर अंकुश लगाया जा सकेगा। उन्होंने एसएचओ को नियमित रुप से सघन वाहन जांच किए जाने के साथ लंबित वारंट व कुर्की का तामिला करने का निर्देश दिया। उन्होंनें कहा कि फरार अपराधियों के घर नोटिस चस्पा कर सावधान करें। हर असमाजिक तत्वों पर स्थानीय स्तर से नजर बनाए रखे। बैठक के दौरान पुलिस इंस्पेक्टर ने पूर्व के माह में लंबित नन एसआर कांड व प्रतिवेदित नन एसआर कांडों की समीक्षा कर अनुसंधान के कई पहलूओं पर एसएचओ को ध्यान दिलाया। बैठक में अरेड़ एसएचओ राजकिशोर कुमार, खिरहर एसएचओ अंजेश कुमार, मधवापुर एसएचओ गया सिंह, साहरघाट एसएचओ सुरेन्द्र पासवान आदि एसएचओ उपस्थित थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post