Ticker

6/recent/ticker-posts

ब्रह्मपुरा में बच्ची की हत्या के बाद ग्रामीणों ने मांगा न्याय, बदले में पुलिस ने कर दिया FIR

ब्रह्मपुरा में 25 अक्टूबर को संदेहास्पद अवस्था में मृतक किशोरी के शव मिलने के बाद न्याय की मांग करने वाले आक्रोशित ब्रह्मपुरा के ग्रामीणों पर पुलिस ने कार्रवाई की है. अरेर थाना पुलिस ने ब्रह्मपुरा गांव के 6 लोग सहित करीब 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है. अरेर एसएचओ राज किशोर कुमार ने प्राथमिकी में उल्लेख किया है कि बीते 25 अक्टूबर को ब्रह्मपुरा गांव में एक किशोरी की संदेहास्पद अवस्था में मौत की सूचना मिलने पर उक्त स्थल पर पुलिस पहुंची, जहां मौजूद विनय शाह, रोहित साह, बतीश पासवान, दीपक सिंह, रामा साह, रौशन साह सहित अज्ञात लोगों ने सरकारी काम में बाधा डालने का काम किया और अवैध तरीके से सड़क जाम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने में बाधा उत्पन्न किया. थानाध्यक्ष राजकिशोर साह ने पुलिस के साथ धक्कामुक्की का भी आरोप लगाया है. 


इधर घटना के तीन दिन से अधिक बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. थानाध्यक्ष से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को अभी तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार में है जो कि अभी तक नहीं आई है. वहीं अरेर एसएचओ राज किशोर कुमार कहते हैं कि उनकी टीम साइंटिफिक जांच कर रही है, परिवार के लोग और स्थानीय लोगों से पूछताछ कर रही है. लेकिन सच्चाई  यह है कि थाने की कथित साइंटिफिक जांच में अब तक कुछ भी हाथ नहीं लग सका है. यानी घटना के तीन दिन बाद भी मामले के अनुसंधान में पुलिस के साथ पूरी तरह खाली हैं.


मामले को लेकर न्याय की गुहार लगाते हुए सोमवार को ब्रह्मपुरा के सैकड़ों ग्रामीण जिसमें महिला, पुरुष सभी शामिल थे. सभी ब्रह्मपुरा गांव से बेनीपट्टी मुख्यालय तक न्याय की गुहार लगाते हुए, नारेबाजी करते हुए पहुंचे थे. वहीं अब न्याय की गुहार लगाने वाले स्थानीय ग्रामीणों पर FIR करने के बाद ग्रामीणों में काफी आक्रोश व्याप्त है.

Post a Comment

0 Comments