बेनीपट्टी(मधुबनी)। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के खिलाफ जेडीयू सांसद ललन सिंह के बयान पर लोजपा ने पलटवार किया है। मधुबनी के लोजपा अध्यक्ष बचनू मंडल ने कहा कि उनका ये बयान ओछी मानसिकता का परिचायक है। लोजपा अध्यक्ष ने उन्हें बयान की निंदा करते हुए मर्यादा का पालन करने की सलाह दी। लोजपा जिला अध्यक्ष ने बताया कि जदयू सांसद ललन सिंह अपनी बचकानी हरकतों एवं गैर जिम्मेदाराना बयानों से मीडिया के सुर्खी बने रहने के लिए मशहूर हैं।

बिहार सरकार में जल संसाधन मंत्री रहते हुए भी कुशहा बांध के टूटने पर कोसी नदी क्षेत्र में आई भीषण बाढ़ की त्रासदी के दौरान भी उनका यह गैर जिम्मेदाराना बयान काफी चर्चा में रहा था कि बांध में चूहे लग जाने से बांध टूट गया जिसकी उस समय व्यापक निंदा की गई थी और आज जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना से निपटने के लिए बिहार में टेस्टिंग की दर को बढ़ाने की बिहार सरकार को सलाह दी जाती है तो ये लोजपा सुप्रीमो तथा देश के प्रगतिशील युवाओं के आईकॉन चिराग पासवान जी की आड़ में अप्रत्यक्ष रूप से माननीय प्रधानमंत्री जी के बिहार को प्रगति के पथ पर लाने हेतु बिहार सरकार को दिए गए निर्देशों की अवहेलना एवं उनके विचारों के प्रति अपनी  अनास्था ही प्रकट कर रहे हैं जबकि सारा देश इस वैश्विक महामारी में माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा किए गए प्रयासों के लिए उनकी सराहना कर रहा है तथा लोजपा भी माननीय प्रधानमंत्री जी के प्रयासों के प्रति कृतज्ञ है। 


श्री मंडल ने बताया कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की लगातार बढ़ती लोकप्रियता से बिहार में जदयू के नेता किस तरह भयाक्रांत हैं यह अब किसी से छुपी हुई नहीं है । बिहार में अति पिछड़ों के समर्थन की बदौलत वर्षों से सत्ता की मलाई खा रही जदयू द्वारा  अति पिछड़ों की की जा रही लगातार उपेक्षा की भी अब उक्त समाज में सर्वत्र चर्चा हो रही है । 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में अति पिछड़ा वर्ग को दरकिनार कर जदयू किन्हें मंत्रिमंडल में शामिल कराना चाहती थी और जदयू सांसद ललन सिंह इतने व्याकुल भारत क्यों बने हुए हैं तथा इस तरह का बयान किन के इशारे पर दे रहे हैं , यह भी आम जनता बखूबी समझती है।

जिला अध्यक्ष ने बताया की लोक जनशक्ति पार्टी बिहार को विकसित बनाने हेतु अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के साथ उनके आदर्श विजन बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट अभियान की दिशा में लगातार प्रयत्नशील है और बिहारी जनमानस में चिराग पासवान जी की लोकप्रियता में जबरदस्त इजाफा भी हुआ है। जिसकी तुलना में विकास का छद्म ढिंढोरा पीटने वालों को अब अपना चेहरा आईने में कुरूप नजर आने लगा है और प्रतिक्रिया स्वरूप बिहार को समुचित विकास के मायने में सही दिशा में पटरी पर लाने के बजाए इस तरह के बेतुका बयान देने और दिलाने का कुत्सित प्रयास हो रहा है , जिसकी चारों ओर से स्वतः ही घोर निंदा भी हो ही  रही है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post