Ticker

6/recent/ticker-posts

स्पीडी ट्रायल की समीक्षा कर एसडीपीओ ने कहा, ऐेसे केस में लापरवाही सहन नहीं

बेनीपट्टी(मधुबनी)। स्पीडी ट्रायल के लिए जो भी केस चिन्ह्ति है, वैसे केस को गंभीरता से लेकर पीड़ित को जल्द इंसाफ दिलाने के लिए कार्य करें। इस केस में किस स्तर पर देरी हो रही है इसकी पूरी जानकारी लेते रहिए। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के कार्यालय प्रकोष्ठ में केस की समीक्षा के दौरान एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने निर्देशित करते हुए एसएचओ को कहा। एसडीपीओ ने बताया कि पूरे अनुमंडल में फिलवक्त दो दर्जन केस का स्पीडी ट्रायल कराया जा रहा है। जिसमें आर्म्स एक्ट के पंद्रह केस, दहेज हत्या के एक मामले, दंगा के एक मामले व ठगी के एक मामले का स्पीडी ट्रायल कराया जा रहा है। एसडीपीओ ने बताया कि केस किस स्तर पर है। गवाही या सुनवाई अथवा साक्ष्य या फैसला पर है, वैसे केस की समीक्षा की गयी है। वहीं एसडीपीओ ने एसएचओ को निर्देशित करते हुए कहा कि गुंडा पंजी को गंभीरता से लीजिए। पूर्व के पंजी में कई लोग अब समाज के मुख्यधारा में लौट आये है। ऐेसे लोगों के संबंध में गोपनीय ढंग से रिपोर्ट लेते रहे, वहीं नए प्रस्ताव में दर्ज अपराधियों की टोह लेते रहे, थाना पर ऐसे लोगों को हाजिरी के लिए बुला कर खोज-खबर ले। वहीं पूरे सप्ताह के गतिविधि के संबंध में भी जानकारी जुटायें। वहीं एसडीपीओ ने सभी एसएचओ को पूरे क्षेत्र में समनव्य स्थापित कर विधि-व्यवस्था बनाये रखने का सख्त निर्देश दिया। गौरतलब है कि कानून व्यवस्था की सीएम के द्वारा समीक्षा किए जाने के बाद पुलिसिया कार्रवाई में तेजी लाने का प्रयास किया जा रहा है। समीक्षा बैठक में पुलिस निरीक्षक राजेश कुमार, अरेड़ एसएचओ रामाशीष कामती, बिस्फी एसएचओ उमेश पासवान, हरलाखी एसएचओ अशोक कुमार, मधवापुर एसएचओ अनिल कुमार सहित कई पुलिस अधिकारी मौजूद थे।




Post a Comment

0 Comments