Ticker

6/recent/ticker-posts

सोउली घाट उत्क्रमित मध्य विद्यालय में शिक्षकों के मनमानी से शिक्षा व्यवस्था हो रही ध्वस्त

बेनीपट्टी (मधुबनी)। शिक्षा विभाग के तमाम निर्देशों की धज्जियां उड़ायी जा रही है, प्रखंड के पाली पंचायत के सोउली घाट स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय में। उपस्थित छात्रों को कमरें में बैठा कर शिक्षक कार्यालय में निजी कार्यों में मशगूल रहते है। जिसके कारण स्कूल का शैक्षणिक माहौल पूरी तरह से चरमरा गयी है। हैरत है कि उक्त स्कूल मुख्यालय से महज सात किमी पश्चिमी भाग में अवस्थित है। बावजूद ऐसी स्थिति होने के बाद भी अधिकारी शिक्षा के अधिकार कानून को सफल नहीं करा पा रहे है। जो चिंताजनक है। जानकारी दें कि उक्त स्कूल में प्रभारी समेत पांच शिक्षक है, जबकि स्कूल में नामांकित छात्र-छात्राओं की संख्या-311 है। विद्यालय प्रधान कम शिक्षक का हवाला देते हुए स्थिति को बेहतर बता रहे है। लेकिन, स्कूल  के निरीक्षण के दिन स्कूल परिसर में दर्जनों छात्र शैक्षणिक समय में हंगामा  व खेलकूद कर रहे थे। वहीं प्रधानाध्यापक धूप में टेबुल लगा कर विभागीय कार्यों का निपटारा करने में व्यस्त थे। वहीं एक शिक्षक कार्यालय में विभागीय कार्य के समापन करने में जुटे हुए थे। जिससे स्थिति का अंदाजा लगाना सहज है कि स्कूल में दो शिक्षक के विभागीय कार्यों में तल्लीन होने के कारण शैक्षणिक स्थिति क्या होगी। वहीं वर्ग-एक के छोटे-छोटे बच्चें वर्ग में अलग ही धमाल मचाए हुए थे। गौरतलब है कि सोउली घाट स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय में संसाधन का भी घोर अभाव है। वर्ग-06 से लेकर वर्ग-08 के छात्रों के लिए बैंच-डेस्क की व्यवस्था है, वहीं अन्य वर्गों के लिए जमीन पर बैठने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि स्कूल का संचालन पूरी तरह अस्त-व्यस्त है। शिक्षक पढ़ाने के बजाय दिन भर परिसर में बैठे हुए रहते है। उधर निरीक्षण के समय में बच्चों के लिए तैयार हो रहे मिड डे मील के दाल का जायजा लिया गया तो दाल महज हल्दी युक्त गर्म पानी ही था। जहां दाल का दाना गायब नजर आ रहा था। वहीं किचेन शेड में स्वच्छता नाम की कोई चीज दिखाई नहीं दी। इस संबंध में पूछे जाने पर प्रखंड विकास पदाधिकारी डा. अभय कुमार ने बताया कि ऐसी स्थिति में जल्द ही स्कूल का निरीक्षण किया जाएगा। विभाग के मानक पर स्कूल के संचालन नहीं होने पर कार्रवाई की जाएगी।



Post a Comment

0 Comments