Ticker

6/recent/ticker-posts

लाखों खर्च के बाद भी नहीं मिला ग्रामीणों को शुद्ध जल

बेनीपट्टी (मधुबनी)। सूबे में राज्य सरकार नल का जल योजना को सात निश्चय योजना में सुमार कर लोगों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के दावें कर रही है। परंतु चार वर्ष पूर्व बेनीपट्टी के शिवनगर एपीएचसी परिसर में निर्मित जलापूर्ति योजना सरकार के दावें की हवा निकाल रही है। निर्माण होने के बाद से अब तक विभाग की ओर से गांव में जल मुहैया कराने के लिए पाईप नहीं बिछाया गया है। जलमीनार में पानी पहुंचाने के लिए लगाये गये मशीन भी अब जंग की भेंट चढ़ रहा है। लाखों की राशि व्यय कर निर्मित जलमीनार लोगों को आज भी शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के बजाय मूंह चिढ़ा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि योजना के उद्घाटन के बाद विभाग एक बार भी सुधि नहीं ली है। जिसके कारण लाखों की राशि की उपयोगिता नहीं हो रही है। गौरतलब है कि वर्ष 2009-10 में शिवनगर में ग्रामीण पाईप जलापूर्ति योजना के तहत जलमीनार निर्माण करने की योजना की स्वीकृति लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग की ओर से दी गयी थी। उक्त योजना का तत्कालीन मंत्री चन्द्रमोहन राय ने 20 अप्रैल 2013 को बड़े ही तामझाम से उद्घाटन किया था। उद्घाटन के मौके पर कई बडे़ राजनीतिक हस्ती भी उपस्थित थे। जानकारी के अनुसार उक्त योजना को पूर्ण करने में विभाग ने करीब 80 लाख की राशि खर्च की थी। ग्रामीण काशीनाथ झा, कौशल झा, रमेश झा सहित कई अन्य ग्रामीणों ने बताया कि पूर्व विधायक सह वर्तमान पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा के विभागीय मंत्री बनने से योजना का फलीभूत होता दिख रहा है। ग्रामीणों में मंत्री श्री झा से उम्मीद की आस एक बार फिर जगी हुई दिखाई दे रही है।

Post a Comment

0 Comments