मधुबनी जिला के झंझारपुर कारागार में मर्डर केस में 9 वर्षों से बंद कैदी की बुधवार की शाम को अचानक तबीयत खराब होने लगी जिसके बाद जेल कर्मी कैदी को उठाकर इलाज के लिए मधुबनी सदर अस्पताल लेकर आने लगे जहां कैदी की मौत हो गई। वही कैदी के परिजनों को जेल पुलिस कर्मी के द्वारा मौत की सूचना दी गई जिसके बाद परिजन मधुबनी सदर अस्पताल पहुंचे।

1

जहां कैदी के परिजन बता रहे हैं कि कल पूरे परिवार से मृतक राम यादव फोन पर बात किए फिर ऐसा क्या हुआ जो कि शाम को उनकी तबीयत खराब हुई लेकिन तबीयत खराब होने की सूचना जेल प्रशासन के द्वारा हमें नहीं दिया गया जब राम यादव की मौत हो गई इसकी सूचना हमें दी गई। मृतक कैदी के परिजन अचानक मौत की खबर सुनकर हक्का बक्का रह गए और परिजनों का कहना है कि साजिश के तहत 9 वर्षों से बंद राम यादव की हुई मौत।

2

वहीं मृतक के शव को पोस्टमार्टम कराकर कागजी प्रक्रिया पूरी कर शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया जाएगा।


वहीं मृतक कैदी की पहचान राम यादव उम्र 45 वर्ष टेंगरा गांव निवासी के रूप में हुई है परिजन का कहना है कि 9 वर्ष पूर्व मर्डर केस में गिरफ्तार राम यादव 2 साल रामपट्टी जेल में बंद रहे वहीं कई वर्ष तक भागलपुर के जेल में भी बंद थे जिसके बाद वह वापस झंझारपुर कारागार में बंद थे इससे पूर्व में भी राम यादव की तबीयत खराब हुई थी जिसको लेकर जेल कर्मी के द्वारा सूचना दी गई थी तब हम लोग अस्पताल में आकर इलाज करवाए थे लेकिन इस बार तबीयत खराब होने की सूचना हम लोग को नहीं दी गई जब राम यादव की मौत हुई तभी हम लोगों को इसकी सूचना दी गई।

वही मृतक कैदी राम यादव की पत्नी और बेटी आशंका जताई है कि साजिश के तहत मेरे पति की मौत हो गई है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post