मधुबनी। मनरेगा योजना को लेकर जिला परिषद सदस्यों ने मंगलवार को डीडीसी के खिलाफ एकदिवसीय धरना दिया। धरना डीआरडीए के परिसर में दी गयी। जिला पार्षद सीमा यादव, प्रियंका चौधरी झा, ज्योति देवी,  लक्ष्मी देवी, बीना देवी, आशा देवी आदि ने बताया कि एकदिवसीय धरना के माध्यम से बता रहे है कि मनरेगा योजना कार्य एजेंसी जिला परिषद को बनाये। ये संवैधानिक अधिकार है। जिला पार्षद ने बताया कि जब वे लोग क्षेत्र में जाते है तो लोग विकास को लेकर पूछते है।

1

जिला परिषद के बैठक में ये प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित कराया गया। जिसके अनुपालन के लिए अबतक सिर्फ आश्वासन ही दिया गया। अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व सदस्यों के द्वारा बार-बार मनरेगा योजना के क्रियान्वयन को लेकर अनुरोध तक किया गया। लेकिन, कोई पहल तक नहीं हुईं।

2

जिला परिषद सदस्यों ने कहा कि कार्यालय स्तर पर महीनों पूर्व अनुशंसा भी ली गयी थी, लेकिन इतने दिनों के बाद भी जिला परिषद से मनरेगा योजना का क्रियान्वयन नहीं किया गया।

उन्होंने कहा कि मनरेगा योजना को लेकर अधिनियम 2005 में ग्राम पंचायत, पंचायत समिति व जिला परिषद के स्तर पर योजना के चयन व क्रियान्वयन में स्पष्ठ प्रावधान है। सदस्यों ने कहा कि फिलहाल तो एकदिवसीय धरना सांकेतिक रूप से दिया गया है, लेकिन, जल्द ही निदान नहीं हुआ तो बाध्य होकर बड़ा आंदोलन करेंगे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post