बेनीपट्टी अनुमंडल क्षेत्र के विभिन्न जगहों सहित बनकट्टा में गुरुवार को भव्य रूप से चित्रगुप्त पूजा की गई, साथ ही समस्त मानव जीवन की कल्याण हेतु कामना की गई। बनकट्टा में कायस्थ समाज के द्वारा पूजा स्थल को भव्य रूप से सजाया गया एवं भगवान चित्रगुप्त की प्रतिमा स्थापित कर एक ही स्थान पर सामूहिक रूप से पूजा अर्चना की गई। पूजा को लेकर सुबह से ही गांव में काफी चहल-पहल देखने को मिली।

1

इस बाबत अध्यक्ष मदन कर्ण ने बताया कि बनकट्टा में गत 38 वर्षों से भगवान चित्रगुप्त की पूजा की जाती है। चित्रगुप्त देवताओं के लेखापाल हैं और मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा रखते हैं। उनकी पूजा के दिन नई कलम दवात या लेखनी की पूजा उनके प्रतिरूप के तौर पर की जाती है। लेखनी की पूजा से वाणी और विद्या का वरदान मिलता है। कायस्थ के लिए चित्रगुप्त पूजा दिन से ही नववर्ष का आगाज माना जाता है।

2

बता दें कि आज के दिन कायस्थ समाज के लोग भगवान चित्रगुप्त की पूजा करते हैं। कहा जाता है कि कायस्थ समाज के लोग अपनी लेखनी के लिये सदैव से जाने जाते है। जिस कारण समस्त कायस्थ समाज के लोग यह पूजा काफी विधि विधान के साथ करते है। बनकट्टा गांव में भी कायस्थ परिवारों ने भगवान चित्रगुप्त की पूजा कर सुख समृद्धि की कामना भगवान चित्रगुप्त से की।

इस पूजा के मौके पर पूजा समिति के प्रो मदन कुमार कर्ण ,सुनील कुमार, सुकेश कर्ण, विजय कर्ण, राजा कर्ण, सुमन कर्ण, भगवान जी कर्ण, विक्की कर्ण, नबोनाथ कर्ण, मोहन कर्ण, लड्डू कर्ण, सुनील कर्ण, देवेंद्र कर्ण, रौशन कर्ण, बचनू कर्ण, अखिलेश कर्ण, समीर कर्ण, सिद्धार्थ कुमार, सिंकू कर्ण, ओम कुमार, कृष्णा, रचना, आकांक्षा, मोना, आरती, प्रिया, अनुष्का, सत्यम, प्रत्यय, सागर, काजल, मुस्कान सहित सभी चित्रांश पूजन आरती में भाग लिए।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post