बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड के चानपुरा बसैठ में एसके चौधरी शिक्षा न्यास द्वारा संचालित कृषि विज्ञान केंद्र के सभागार में पोषक तत्व प्रबंधन विषय पर 15 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया. जिसका उद्घाटन जिला कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार, संस्था के अध्यक्ष डा. संत कुमार चौधरी और उपप्रमुख अशोक चौधरी समेत अन्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

1

इस अवसर पर अध्यक्ष डा. चौधरी ने कहा कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उदेश्य जिले में कृषि के विकास एवं नवीनतम तकनीक के प्रसारण के साथ साथ बेरोजगार युवक युवतियों को रोजगारोन्मुख बनाने एवं खाद बीज अनुज्ञप्ति धारियों के लाईसेंस का नवीनीकरण में लाभ पहुंचाना है. उन्होंने कहा कि शिक्षक दिवस के पवित्र मौके पर षष्ठम एवं सप्तम बैच के प्रशिक्षुओं के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला की शुरुआत की गयी है। 

2

ऐसे अवसर पर प्रशिक्षुओं से उम्मीद करते हैं कि वें प्रशिक्षण प्राप्त कर समाज व देश में अपना योगदान देने का काम करेंगे. डा. चौधरी ने कहा कि पूरे भारत वर्ष में यह दूसरा संस्थान है जो आईसीएआर से पिछले दो वर्षों से किसी प्रकार का अनुदान राशि नही लेकर आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर है. डा. संत चौधरी ने कहा कि पीएम के आहवान पर देशभर में मनाये जा रहे अमृत महोत्सव का समापन संस्थान परिसर में आगामी फरवरी माह में अन्तराष्ट्रीय कृषि सह स्वास्थ्य सम्मेलन का आयोजित कर किया जायेगा. जिसमें यूरोप समेत विश्व के तकरीबन 40 देशों के प्रतिनिधि शिरकत करेंगे. उन्होंने कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि यहां के मिट्टी के स्नेह और आमजनों के आशीर्वाद से किर्गिस्तान की राजधानी में आयोजित होनेवाले युरोपिए सम्मेलन में प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद मुझे संबोधन के लिए चुना गया है  वहीं जिला कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार ने कहा कि यह प्रशिक्षण कृषि क्षेत्र के विकास में कारगर साबित होगा और कृषि विकास के साथ साथ रोजगार के अवसर प्राप्त कराने का काम करेंगें. कार्यक्रम की शुरुआत में डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती पर उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया और उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला गया. वक्ताओं ने उनके चरित्र को आज के शिक्षकों के अपनाने की आवश्यकता जतायी. इसके बाद कार्यक्रम में न्यासी सह उप प्रमुख अशोक चौधरी द्वारा आगत सभी अतिथियों का मिथिला के परंपरा के अनुसार पाग दोपटा व माला से सम्मानित किया गया. कार्यक्रम में वैज्ञानिक मंगलानंद झा ने बताया कि प्रशिक्षण के माध्यम से प्रशिक्षुओं को कृषि की संरचना व उसका प्रकार, उसमें उपलब्ध विभिन्न तत्व, विभिन्न खाद एवं उर्वरक में उपलब्ध जानकारी, उसका प्रयोग, बीज के उत्पादन तकनीक और पौधें के संरक्षण, वर्मी कम्पोस्ट सहित अन्य बिंदुओं पर जानकारी दी जायेगी. अंतिम सत्र में चतुर्थ, पंचम बैच के प्रशिक्षुओं के बीच प्रमाणपत्र का वितरण किया गया. मौके पर आत्मा के तकनीकी प्रबंधक शिव कुमार, प्रमोद कुमार झा, राजेश सिंह यादव, परवेज आलम, जुबैर अहमद, इश्वर चंद्र झा, ऋषि कुमार, विक्की ठाकुर, गणेश पासवान, लक्ष्मण झा, देवेंद्र कुशवाह, युगेश, दुर्गेश, आशीष, किशोर चंद्र झा व किसान सलाहकार वरुण चौधरी सहित अन्य मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post