मधुबनी। नगर परिषद से नगर निगम में उत्क्रमित होने के बाद नगर निगम  चुनाव के लिए वार्ड परिसीमन का काम शुक्रवार से शुरू हो गया इसके लिए सदर एसडीओ को नोडल अधिकारी बनाया गया है  राजनगर पंडौल और रहिका के प्रखंड विकास पदाधिकारी और अंचलाधिकारी को इसकी जिम्मेवारी दी गई है वार्ड परिसीमन का कार्य शुक्रवार को उत्तर पश्चिमी छोर से शुरू हुआ है।     प्रशासनिक स्तर से निर्धारित किए गए 45 वार्डों के आबादी बिखंडन का कार्य आज से प्रारंभ कर दिया गया है। पारदर्शिता के साथ वार्डों की आबादी में समरुपता रखने का निर्णय लिया गया। इसके लिए नगर परिषद के पूर्व के वार्डों की जनसंख्या नगर निगम कार्यालय से मांग की गई। 

1

मालूम हो कि उत्क्रमित होने से पहले नगर परिषद में कुल वार्डों की संख्या 30 थी। 2011 के जनगणना के अनुसार कुल आबादी 75 हजार 682 थी। वहीं नगर निगम में इसे बढाकर 1 लाख 70 हजार कर दिया गया है। पूर्व में सबसे अधिक आबादी वाला वार्ड 22 था जबकि सबसे न्यूनतम आबादी का वार्ड 19 था। सबसे अधिक आबादी 5084 व सबसे कम आबादी 1500 है।

2

उत्तर पश्चिम से प्रारंभ हुआ सीमांकन का कार्य :-  

नगर निगम क्षेत्र के आउटर एरिया का सीमांकन किए जाने के बाद वार्ड गठन की प्रकिया उत्तर पश्चिम से प्रारंभ की जाएगी। वहीं इसका समापन दक्षिण पश्चिम में किया जाएगा। प्रत्येक वार्ड में औसतन 3 हजार से 4 हजार की आबादी रखा जाना है।

वार्डों के सीमांकन व आबादी निर्धारण का कार्य 29 अगस्त तक पूर्ण कर लिया जाना है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post