जयनगर(मधुबनी)। भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को जयनगर प्रखंड सह अंचल कार्यालय पर एक दिवसीय धरना देकर  विश्वासघात दिवस मनाया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक झटके में एनडीए छोड़कर महागठबंधन का हिस्सा बनने का फैसला किया और मंगलवार को इस्तीफा भी दे दिया। 

1

इसके साथ ही उन्होंने 164 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपते हुए नई सरकार बनाया। अब नई सरकार के शपथ ग्रहण की तैयारियों के बीच मंत्रिमंडल के फॉर्मूले व मंत्रियों के नामों को लेकर माथापच्ची जारी है। वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी इसे नीतीश कुमार का धोखा करार दे रही है। इसी के विरोध में भाजपा द्वारा प्रस्तावित एक दिवसीय धरना  प्रखंड सह अंचल कार्यालय में नई सरकार के खिलाफ विश्वासघात दिवस के रूप में मनाते हुए धरना दिया । धरनास्थल पर ग्रामीण एवं नगर के बीजेपी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। 



धरना स्थल से नीतीश कुमार के खिलाफ जमकर नारे लगाए गए और नई सरकार के गठन को लोकतंत्र के खिलाफ बताया। 

वक्ताओं ने कहा कि हमने बिहार में गिरती कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर सवाल खड़ा किया जो नीतीश कुमार को नागवार लगा । मगर हमलोग मुख्यमंत्री के समक्ष ऐसे मुद्दे न उठाएं तो कहां उठाएं। नगर अध्यक्ष राज कुमार साह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की जहां भी सरकार है। वहां कानून व्यवस्था को पहली प्राथमिकता दी गई है ।  लेकिन बिहार में लगातार स्थिति खराब होती जा रही थी। हम इस मुद्दे से मुंह मोड़ कर नहीं रह सकते थे। 

2

ऐसे में नीतीश कुमार के सामने सवाल उठाना जायज था। मौके पर अरुण कुशवाहा, उद्धव कुंवर, अमरेश झा, अरविंद तिवारी, आनंद पूर्वे, राज कुमार साह, किशुनदेव साहनी, पंकज राठौड़, सूरज गुप्ता, रामजी गुप्ता, अरुण कुमार एवं अन्य दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post