पटना। बिहार के मुखिया की अब बल्ले-बल्ले हो गयी है। सरकार ने मुखिया को पंचायत में विकास कार्यो के लिए पैसे दिए है। मुखिया को इस पैसे से पेयजल, स्वच्छता और विकास कार्यो पर खर्च करने होंगे। बिहार सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं के खाता में 1921 करोड़ रुपये दिए है। जिसमें 1343 करोड़ रुपये ग्राम पंचायत को मिले है। जबकि, पंचायत समिति और जिला परिषद को 288-288 करोड़ रुपये दिए गए है।

1

ये राशि 15वीं वित्त आयोग के अनुशंसा पर उपलब्ध कराए गए है।

राशि दो अलग-अलग मदों में दी गयी है। जिसमें एक मद टाइड है और अनटाइड। टाइड मद में 60 प्रतिशत और अनटाइड में 40 प्रतिशत राशि ट्रांसफर किये गए है।

2

आपको बता दे कि टाइड मद की राशि से पंचायत में पेयजल आपूर्ति, जल संरक्षण, खुले में शौचमुक्त के सतत रखरखाव से जुड़ी स्कीम में खर्च होंगे। वहीं, अनटाइड की राशि से अलग-अलग विकास कार्यो में खर्च किये जायेंगे। लेकिन, इसके लिए फैसला पंचायत के ग्राम सभा में लिया जाएगा। इस राशि से खेल का मैदान, सामुदायिक भवन निर्माण, शवदाह गृह, स्कूलों व आंगनबाड़ी केंद्रों में सुविधाओं पर किये जाने है। इस राशि का खर्च वार्ड से आये प्रस्ताव पर भी किया जा सकेगा।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here



ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post