बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी अंचल के मुरैठ में कोसी का तटबंध ध्वस्त हो गया। तटबंध ध्वस्त होने से कोसी के उपनहर में जमा नदी का पानी बधार में फैल गया। अचानक, बधार में पानी जमा हो जाने से किसानों को काफी क्षति हुई है। किसानों के खेत में लगा धान का बिचड़ा डूब गया है। जिससे किसानों के बीच गहरा आक्रोश पनप रहा है। हालांकि, तटबंध टूटने से नाराज किसानों ने सड़क जाम करने की भी योजना बनाई, लेकिन, स्थानीय लोगों ने शांत करा दिया। किसानों ने बताया कि विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई होना चाहिए। कोसी का पानी अब धीरे धीरे आबादी इलाको में प्रवेश कर जाएगा अन्यथा, दूसरे गांव के किसानों को भी बर्बाद कर देगा।

1

ग्रामीणों ने बताया कि कोसी उपनहर में जलस्तर बढ़ रहा था। बुधवार को कोसी नहर का फाटक बंद कर दिया गया। जिससे पानी का दवाब सीधे तटबंध पर पड़ा और देर रात करीब 12 बजे अचानक टूट गया। जबतक किसान पहुँच पाते, तबतक पानी अनियंत्रित हो चुका था। किसानों ने जल संसाधन विभाग से उचित मुआवजा की मांग की है। 

2

वहीं, भाजपा के एमएलसी घनश्याम ठाकुर ने तटबंध टूटने के मामला को गंभीर बताते हुए विभागीय अभियंता से बात कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। श्री ठाकुर ने कहा कि फिलहाल, बारिश भी नहीं हो रही है। किसान काफी जद्दोजहद कर बिचड़ा को बचा रहे थे, लेकिन विभाग की अदूरदर्शिता के कारण सब चौपट हो गया।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post