फुलपरास(मधुबनी)।  पुलिस और मध निषेध विभाग की संयुक्त छापेमारी में थाना क्षेत्र के मुरली गांव निवासी अनिल यादव के घर से भारी मात्रा में विदेशी शराब बरामद हुई है। तकरीबन 3800 लीटर विदेशी शराब कुल 400 पेटी की बरामदगी के बाद क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गई है। 

1

बताया जाता है कि अनिल यादव को शराब कारोबारी द्वारा किराया के रूप में देता था 50 हजार से 1 लाख रुपए महीना देता था। शराब कारोबार में मधुबनी के मोहम्मद अब्दुल उर्फ लड्डू के यहां से लाता था। एक तरफ जहां  बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू है उसके बावजूद भी धड़ल्ले से शराब बिक रही है दिख कहीं नहीं रही है लेकिन मिल हर जगह रहा है। लगातार शराब बरामद होने से जहां प्रशासन की कार्यशैली पर सवाल उठते रहे हैं ।वहीं शराब कारोबारी प्रशासन के लिए चुनौती बन गए हैं।

2

फुलपरास डीएसपी प्रभात कुमार शर्मा ने बताया कि मद्य निषेध विभाग और स्थानीय पुलिस को सूचना मिली की मुरली गांव में शराब का होलसेल सेंटर है जहां से विभिन्न जगहों के लिए शराब की आपूर्ति की जाती है मौका मिलते ही छापेमारी की गई जिसमें भारी मात्रा में शराब के सात कारोबारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

उन्होंने कहा कि शराब के कारोबार में संलिप्त बहुत सारे लोग हैं जिसे चिन्हित का गिरफ्तार किया जाएगा साथ ही शराब की खेप जहां से आती है वहां पर भी रेड की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में शराब कारोबारी बख्शे नहीं जाएंगे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here



ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post