बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड मत्स्यजीवी सहयोग समिति के निर्वाचन को लेकर उपविकास आयुक्त विशाल राज ने मतदाता सूची और नामांकन पत्रों की समीक्षा की। इस दौरान डीडीसी ने बलाईन गांव निवासी फिरण सहनी के द्वारा मतदाता सूची से नाम हटाये जाने संबंधित दिये गये आपत्ति की भी जांच की और बीडीओ व सहयोग समिति के निवर्तमान मंत्री से शिकायतकर्ता का नाम हटाये जाने के कारणों की जानकारी मांगी। जहां समिति के निवर्तमान मंत्री द्वारा प्रबंध कार्यकारिणी की अधिकांश बैठक से अनुपस्थित रहने के कारण नोटिस भेजने के बाद विधिवत प्रक्रिया के तहत और समिति के प्रावधान के अनुसार हटाने की बात कही। साथ ही की गयी कार्यवाही और सभा बही सहित सभी आवश्यक अभिलेख उपस्थापित किया। जिसे डीडीसी ने अवलोकन किया। जांच के दौरान शिकायतकर्ता को मौजूद रहने की सूचना दी गयी थी बावजूद शिकायतकर्ता अनुपस्थित रहे। डीडीसी ने अभिलेख का प्रति जांच प्रतिवेदन के साथ सरकार को भेजे जाने की बात कही।

1

मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता ने वर्ष 2012 और 2017 के मतदाता सूची में नाम होने के बावजूद वर्ष 2022 के मतदाता सूची में समिति द्वारा नाम हटाये जाने की शिकायत दर्ज करायी थी। जिसके आलोक में डीडीसी ने प्रखंड कार्यालय पहुंच जांच की और नामांकन प्रक्रिया की समीक्षा भी की। इसके साथ ही समिति के चुनाव के लिये दाखिल किये गये नामांकन पत्रों की भी जांच की।

2

उधर 3 पदों के 13 सदस्यों वाली मत्स्यजीवी सहयोग समिति के सभी पदों पर एक-एक प्रत्याशी मात्र होने के कारण सभी पदों पर निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया। बता दें कि मंत्री पद के लिये सुधीर सहनी और पीतांबर मुखिया ने अपना नामांकन का पर्चा दाखिल किया था। जबकि अध्यक्ष पद के लिये फिरनी देवी सहित शेष सभी पदों पर एक-एक प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल किया था।

आरओ सह बीडीओ डॉ. रविरंजन ने बताया कि मंत्री पद के लिये दाखिल किये गये पीतांबर मुखिया का नामांकन पत्र शपथ पत्र व अन्य कागजात जमा नही होने के कारण रद्द कर दिया गया,अन्य सभी नामांकन पत्र वैद्य पाये गये।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here


ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post