मधुबनी। जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा की अध्यक्षता में समाहरणालय के कार्यालय कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के सभी अनुमंडल पदाधिकारियों और अंचल अधिकारियों के साथ बाढ़ पूर्व तैयारियों की समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में एजेंडवार कार्य प्रगति की समीक्षा की गई। बाढ़ पूर्व तैयारियों में सभी अंचल में सरकारी व निजी नाव की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि सभी निजी नाव मालिकों का यदि कोई भुगतान लंबित हो तो उसे अगले शनिवार की बैठक से पूर्व भुगतान कर दिया जाए।

1

उन्होंने कहा कि बांध के किनारे बसावट वाले गांवों के सक्रिय लोगों से बाढ़ निगरानी समिति का गठन किया जाए। जो नदी में जल स्तर के बढ़ने के दौरान बांध पर बढ़ते दबाव की ससमय सूचना दे सकें। इससे समय रहते जान माल की रक्षा की जा सकेगी।

2

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी अंचल में एक कम्युनिकेशन प्लान तैयार किया जाए जिसके अंतर्गत बाढ़ राहत कार्य से जुड़े सभी संबंधित लोगों के नाम और मोबाइल नंबर की जानकारी उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि स्थानीय गोताखोर, सक्रिय जनप्रतिनिधि के साथ साथ राहत एवं बचाव दल के सभी लोगों की जानकारी शामिल हो।


उन्होंने सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि उनके क्षेत्र के अधीन सभी बांधों के संवेदनशील स्थलों का जायजा अवश्य लें। यदि उन्हें बांध निर्माण में किसी तरह की कमी प्रतीत हो तो इसकी सूचना अविलंब आपदा प्रबंधन शाखा को दी जाए। 


उन्होंने बाढ़ आश्रय स्थल के रूप में चिन्हित सभी भवनों जिनमें विद्यालय भी शामिल हैं के साफ सफाई, शौचालय एवं जल आपूर्ति के पर्याप्त इंतजाम के निर्देश दिए हैं। इसके लिए सभी अंचल अधिकारियों को स्थल निरीक्षण करने और आवश्यकता पड़ने पर संबंधित विभागों से संपर्क कर दिए गए निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।


जिला पदाधिकारी ने कहा कि बाढ़ राहत कार्य से जुड़े हर व्यक्ति को कोरोना का टीका लगवाना सुनिश्चित किया जाए। यदि किन्हीं को बूस्टर डोज दिया जाना हो तो इसके लिए प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से संपर्क कर इसे उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि आपदा की घड़ी में कोरोना संक्रमण की चुनौती न आए इसके लिए यह कदम उठाया जाना आवश्यक है। 


जिलाधिकारी ने बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल संख्या एक एवं दो के कार्यपालक अभियंताओं को निर्देश दिया है कि उनके क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी सलुइस गेट की जाँच करने का वीडियो बनाकर प्रेषित किया जाए।


उक्त बैठक में अपर समाहर्ता अवधेश राम, उप विकास आयुक्त, विशाल राज, प्रभारी आपदा प्रबंधन शाखा सह जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, परिमल कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी, नसीम अहमद सहित अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी और वीडियो कांफ्रेंसिंग से सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी शामिल थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post