मधुबनी। बाढ़ पूर्व तैयारी को लेकर सभी सबंधित अधिकारी अपने अपने-अपने विभाग से संबधित कार्य को हरहाल में ससमय पूर्ण कर ले। उक्त बातें जिलाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में आयोजित बाढ़ पूर्व तैयारियों को लेकर बैठक में उपस्थित सभी सीओ एवम  संबंधित अधिकारियों से कहीं।  बैठक में डीएम ने  विस्तृत समीक्षा कर तटबंधों का निरीक्षण एवम सुरक्षा, वर्षापात एवम नदियों के जलस्तर पर नजर,नावों की उपलब्धता एवम उनका निबंधन, मानव एवम पशुओं के लिए चिन्हित शरण स्थली की वर्तमान स्थिति, मानव एवम पशुओं के लिए सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्धता, खाद्यान्न की उपलब्धता, गोताखोरों की सूची,आपदा मित्रो की उपयोगिता,सड़को की मरम्मती, संचार योजना,बाढ़ की स्थिति में आकस्मिक फसल योजना एवम बाढ़ पीड़ितों को राहत राशि  उपलब्धता आदि के सम्बंध में कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए।डीएम ने निर्देश दिया कि सभी शरण स्थली का भौतिक सत्यापन कर वहां सभी आवश्यक सुविधाओं का निरीक्षण कर लें ,विशेषकर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता एवं शौचालय की व्यवस्था को जरूर देख लें ।मानव दवा की उपलब्धता एवं पशुओं की दवा की उपलब्धता को लेकर डीएम ने कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि डायरिया सर्पदंश सहित सभी आवश्यक मानव दवाओं एवं पशुओं की सभी आवश्यक दवा  ससमय उपलब्धता को लेकर अभी से योजना बनाकर कार्य शुरू कर दे। 

1

डीएम ने उपस्थित  स्वास्थ्य विभाग के  अधिकारी को निर्देश दिया कि  ब्लीचिंग पाउडर का  प्रभावकारी छिड़काव को लेकर  अभी से ही  पिछले अनुभवों को देखते हुए  पूरी प्लानिंग कर ले। डीएम ने निर्देश दिया कि गोताखोरों की सूची एवं मोबाइल नंबर जिला नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध  करवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने जिला संचार योजना को अपडेट करने का निर्देश दिया जिसमे इसमें जिला स्तर से लेकर पंचायत स्तर तक सभी महत्वपूर्ण मोबाइल नंबर शामिल करेंगे ।डीएम ने कहा कि तटबंधों का नियमित निरीक्षण सुनिश्चित करेंगे।उन्होंने संबधित एसडीओ एवम कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि  तटबंधों एवम बांधो का निरीक्षण कर दो दिनों के अंदर रिपोर्ट करे। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं भी तटबंधों का निरीक्षण करूंगा। 

2

डीएम ने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि बाढ़ के समय प्रभावित क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं को किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े इसको लेकर अभी से ही ड्यू लिस्ट बना ले। इसके अतिरिक्त पॉलिथीन सीट की उपलब्धता ,पशु चारे की उपलब्धता, खाद्यान्न के संधारण हेतु गोदामों का चिन्हित किया जाना , नाव की उपलब्धता एवं उनका निबंधन किया जाना , आपातकालीन संचालन केंद्र एवं नियंत्रण कक्ष की स्थापना आदि को लेकर भी समीक्षा उपरांत डीएम ने संबंधित अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उक्त बैठक में डीडीसी विशाल राज,अपर समाहर्ता अवधेश राम,आपदा प्रभारी सह डीपीआरओ परिमल कुमार,सभी एसडीओ,सभी तकनीकी विभागों के अधिकारी, सभी सीओ आदि उपस्थित थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here


Previous Post Next Post