यूक्रेन - रूस युद्ध के बीच यूक्रेन में फंसे बेनीपट्टी प्रखंड के करही गांव के छात्र आयुष सिंह सकुशल भारत लौट चुके हैं। आयुष मधुबनी जिला स्थित अपने गांव करही पहुँच चुके हैं। इस बीच बेनीपट्टी से बीजेपी के विधायक विनोद नारायण झा रविवार को आयुष सिंह से मिलने करही गांव पहुंचे, जहां उन्होंने आयुष के साथ उनके परिजनों से भेंट की व हाल-चाल जाना।

1

इस दौरान देर तक विधायक श्री झा ने छात्र आयुष सिंह से बात की, इस दौरान आयुष ने बताया कि भारत सरकार के सहयोग से पोलैंड के Rzeszow एयरपोर्ट से दिल्ली एयरपोर्ट फिर दिल्ली से पटना एयरपोर्ट एवं पटना से गांव वापस लौटें है। यात्रा के दौरान हुए सभी व्ययों का भुगतान भारत सरकार के द्वारा किया गया। आयुष ने बताया की पोलैंड पहुँचते ही भोजन एवं पाँच सितारा होटल रहने की सभी व्यवस्था भारत सरकार के द्वारा की गई थी। पोलैंड में परोसे गए नास्ते की तस्वीर भी उन्होंने दिखाया।

2

आयुष से भेंट के विधायक विनोद नारायण झा ने बताया कि युद्ध ग्रस्त यूक्रेन में फसें भारतीय छात्रों के वतन वापसी के लिए मोदी जी के चलाया जा रहा अभियान अभूतपूर्व है। विकट परिस्थितियों में भी भारत सरकार हजारों छात्रों को वापस ला चुकी है और आगे भी अभियान निरंतर जारी है। भारत सरकार ने यूरोप के पड़ोसी देशों में अपने चार मंत्री को अभियान में गति देने के लिए भेजे है। अपने देशवासियों के सुरक्षा को प्रथम मानकर मोदी जी कार्य कर रहे है। यह सबसे बड़ी आपदा पीड़ितों के लिए अभियान है। भारत सरकार पड़ोस के देशों में भोजन, रहने का होटल एवं घर तक पहुँचने में सहयोग तो कर ही रही है बल्कि पूरा भुगतान भी कर रही है।

जानकारी के लिए बता दें कि करही गांव निवासी हरिशचंद्र सिंह के पुत्र आयुष सिंह Lviv National University, यूक्रेन में मेडिकल के द्वितीय वर्ष के छात्र हैं, जो कि पिछले दिनों सकुशल भारत वापस आये हैं। 


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post