मधुबनी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला इकाई मधुबनी के तत्वाधान में प्रांत कल्याण सह छात्रावास संयोजक मनीष पासवान एवं राजू इंजीनियर के अध्यक्ष में मधुबनी जिला प्रशासन की विफलता के खिलाफ आक्रोश मार्च निकाला गया। इस मौके पर अभाविप मिथिला विश्वविद्यालय के संयोजक  अशोक कुशवाहा ने कहा कि लगभग दो वर्षों से मधुबनी जैसे क्षेत्रों में लगातार हत्या, लूट ,बलात्कार जैसे घटना का अंजाम दिया जा रहा है और मधुबनी जिला प्रशासन गहरी नींद में सोई हुई है।

वहीं राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं मिथिला विश्वविद्यालय के छात्र संघ अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि मिथिलांचल की धरती को पूरी तरह से बदनाम करने की कोशिश चंद हत्यारों के द्वारा किया जा रहा है। वहीं पूर्व कार्यकर्ता कुन्दन कुमार सिंह एवं राजू इंजीनियर ने कहा कि मधुबनी जिला प्रशासन की विफलता को दर्शाता है प्रशासन कि तंत्र उपर से नीचे तक पूरी तरह फेल है ऐसे निकम्मी और निरंकुश पुलिस प्रशासन के कप्तान को इस्तीफा दे देना चाहिए।

2

वही मिथिला विश्वविद्यालय के सिंडिकेट सदस्य एवं पूर्व प्रदेश मंत्री सुजीत पासवान ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् छात्र संगठन हमेशा छात्र हित समाज हितों में हमेशा तत्पर रह अवाज को बुलंद करने का काम करता है। वहीं विनय कुमार एवं मानस मंयकन एवं अभाविप के छात्र नेता ने कहा सीमावर्ती क्षेत्र में लगातार इस तरह की घटना को अंजाम दिया जा रहा है और यहां के स्थानीय प्रतिनिधि को इस घटना से कोई चिंता नहीं है। 

इस मौके पर अभाविप के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य आयुष राणा, रोहित झा, रंजीत मालाकार, मनोज कुमार सिंह, सूर्यदीप प्रसाद गुप्ता, सोनू उर्फ सुजीत सिन्हा, राम भजन एवं रामप्रकाश एवं मोहम्मद इकबाल अमरेश यादव, अभय प्रकाश, सौरभ कुमार एवं दर्जन से अधिक शिक्षक के रूप में अंकित कुमार , केके ठाकुर, अमित , ललन , चौहान , दीपक,  एम शंकर , अमरितेश , आशुतोष ,मुकुंद  सोनु , शिव , अमरेश ,सहित सैंकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post