बेनीपट्टी के दामोदरपुर गांव निवासी शिक्षक नेता महादेव मिश्रा की पुत्री प्रज्ञा मिश्रा ने BPSC में सफलता पाकर क्षेत्र का नाम रौशन किया है। बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा दिसंबर 2018 में आयोजित  BPSC की परीक्षा में प्रज्ञा को 1021 वां रैंक मिला है। जिसके बाद प्रज्ञा को बधाई देने वालों का ताँता लगा हुआ है।



प्रज्ञा मूल रूप से मधुबनी जिले के बेनीपट्टी प्रखंड अंतर्गत दामोदरपुर गांव की रहने वाली है। प्रज्ञा के पिता शिक्षक महादेव मिश्रा प्राथमिक शिक्षक संघ के नेता हैं, वहीं मां आशा मिश्रा भी शिक्षिका हैं। अपने सात भाई बहन में प्रज्ञा सबसे छोटी हैं। प्रज्ञा शंकरा इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी जयपुर से इंजीनियरिंग की हुई हैं। प्रज्ञा को यह सफलता 32 वर्ष की उम्र में मिला है। प्रज्ञा अविवाहित हैं और इनका पूरा परिवार मधुबनी के आदर्शनगर कॉलोनी में रहते हैं। प्रज्ञा ने अपने इस सफलता का श्रेय परिवार को दिया है।



बता दें कि बिहार लोक सेवा आयोग ने 64वीं का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया है। इसमें कुल 1454 छात्रों का का चयन किया गया है। बीपीएससी की इस भर्ती परीक्षा के लिए 4 लाख 71 हजार से अधिक उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। 



बीपीएससी के नोटिस के अनुसार, राज्य सरकार के 24 विभागों की विभिन्न सेवाओं/संवर्गों के लिए कुल 1465 पदों के लिए 20-11-2018 तक 471581 आवेदन प्राप्त हुए थे। आयोग द्वारा दिसंबर 2018 में आयोजित की गई प्रारंभिक परीक्षा में करीब 3 लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे। इस परीक्षा में 19 हजार से ज्यदा अभ्यर्थी पास हुए थे। वहीं बीपीएससी 64वीं संयुक्त मुख्य प्रतियोगिता परीक्षा के लिए 18534 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था और 15 हजार 800 के करीब अभ्यर्थी शामिल हुए थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post