बेनीपट्टी(मधुबनी)। जलनिकासी के लिए नाला के निर्माण के बाद भी जलजमाव का दर्द क्या होता है, ये कोई बसैठ चौक के लोगों व दुकानदारों से पूछे।


जी, हां। ये फोटो जो आप देख रहे है, दरअसल, ये कोई तालाब अथवा झील नहीं, बल्कि, ये बेनीपट्टी के पश्चिमी भाग का हृदयस्थली बसैठ चौक है। जहां से लोग दरभंगा, सीतामढ़ी, मधुबनी, साहरघाट, मधवापुर व नेपाल तक को जाते है। इस चौक की स्थिति बारिश में ऐसी हो जाती है कि मानो, वहां चौक नहीं, कोई तालाब सड़क पर उतर आया है।


गौरतलब है कि गत चार वर्ष पूर्व जलनिकासी के लिए करोड़ो की राशि से नाला का निर्माण कराया गया। हालांकि, निर्माण के समय ही इसकी उपयोगिता व अनियमितता को लेकर सवाल उठे थे।


स्थानीय लोगों ने बताया कि सड़क से ऊंचा नाला का निर्माण कर दिया गया। वही, कुछ लोगों के द्वारा नाला को आये दिन जाम कर दिया जाता है। जिससे जलनिकासी की समस्या हो जाती है।


बता दे कि इससे पिछले वर्ष चौक का पूरा बारिश का पानी उत्तरी भाग में जमा हो जाता था। जहां विभाग के द्वारा पीसीसी पर पुनः ढलाई कर दी गयी। जिसके कारण अब पूरा पानी चौक के तीनों मुहाने पर फैल जाता है।


सड़क के क्षतिग्रस्त भाग में जलजमाव अधिक हो जाने से लोगों को आवाजाही में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है। बावजूद, विभाग जलनिकासी के लिए पहल नहीं कर रही है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post