बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड के मेघदूतम् के सभागार में प्रखंड प्रमुख सोनी देवी के अध्यक्षता में नगर पंचायत को लेकर बैठक आहूत की गई। बैठक में मुख्य रुप से नगर पंचायत की घोषणा के उपरांत होने वाले विकासात्मक योजनाएं के साथ अन्य अहम मुद्दो पर चर्चा की गई। कांग्रेस के कालिसचन्द्र झा कन्हैया ने कहा कि नगर पंचायत से पहले बेनीपट्टी को मिलने वाली विकास की योजनाएं लागू होना चाहिए था।

नगर पंचायत का दर्जा मिलने से कृषक वर्ग, व्यवसायी वर्ग से लेकर आम लोग परेशान हो जाएंगे। चूंकि, अभी भी इस क्षेत्र के लोग खेती-किसानी पर ही आधारित है। वहीं विजय यादव ने नगर पंचायत के दर्जा पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस परिसिमन में सरिसब को भी शामिल कर लिया गया है। जो की पूर्णरुप से खेती पर आधारित क्षेत्र है। लोगों की आमदनी खेती पर निर्भर है। नगर पंचायत के परिसिमन से इस गांव को अलग करना चाहिए। वहीं व्यवसायी राजू साह ने भी नगर पंचायत के दर्जा पर नाराजगी प्रकट की।

बेतौना के पैक्स अध्यक्ष प्रभात कुमार कर्ण ने बेतौना को नगर पंचायत के परिसिमन में शामिल करने पर हैरानगी जताते हुए कहा कि बेतौना के जिन वार्डो को नगर पंचायत में शामिल किया गया है, वो पूरी तरह से खेती पर आधारित है। वहीं राजेश यादव ने नगर पंचायत के जरीये होने वाले विकासात्मक योजनाओं के साथ वर्तमान बेनीपट्टी की स्थिति पर विस्तार से चर्चा कर कहा कि नगर पंचायत का दर्जा देने में हड़बड़ी की गई है। इससे पहले अन्य विकास के कार्य होने चाहिए।

वहीं इससे किसानों को कोई नुकसान न हो, इसका भी प्रबंध होना चाहिए। वहीं अन्य वक्ताओं ने भी नगर पंचायत के दर्जा पर सवाल उठाते हुए जनमत संग्रह पर जोर देते हुए कहा कि अगर जनता नहीं चाहती है तो अपील करें। बैठक में बनकट्टा के सरपंच सच्चितानंद झा, मो. अब्दूल्लाह अंसारी, मो. हादी अंसारी, सोने राम, त्रिभुवन चौधरी आदि दर्जनों लोग मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post