Ticker

6/recent/ticker-posts

बिहार में कोरोना की टेस्टिंग काफी कम : लोजपा

बेनीपट्टी(मधुबनी)। जूम एप के जरिए वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद चिराग पासवान ने पार्टी के प्रदेश अधिकारी व जिलाध्यक्षों के साथ संवाद किया। श्री पासवान ने कहा कि बिहार सरकार द्वारा कोरोना के टेस्टिंग मामले में बिहार की जनता के साथ खिलवाड किया जा रहा है। उन्होंने बिहार सरकार के स्वास्थ्य सचिव एवं कई जिला अधिकारियों के साथ हुई वार्ता का हवाला देते हुए बताया कि अब तक जो बिहार में कोरोना की टेस्टिंग की जा रही है। उस में अधिक टेस्टिंग रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से की जा रही है जिस की विश्वसनीयता आईसीएमआर के मुताबिक शत प्रतिशत सही है यह जरूरी नहीं है आईसीएमआर ने केवल कंटेनमेंट जोन में ही त्वरित कोरोना जाँच हेतु रैपिड एंटीजन टेस्ट किट के इस्तेमाल की मंजूरी दी है साथ ही इस जांच के बाद नेगेटिव पाए गए संदेहास्पद मरीजों की निश्चित रूप से आरटी पीसीआर के माध्यम से भी पुनः जांच सुनिश्चित कराने की सलाह दी गई है। टेस्टिंग के बाद जो आंकड़े आ रहे हैं वह भी काफी संदेहास्पद है जब टेस्टिंग बढ़ रही है तो आंकड़े भी बढ़ने चाहिए जबकि आँकड़े स्थिर है जो कहीं ना कहीं इस संदेह को मजबूत करता है कि या तो आंकड़े सही नहीं है या सरकार द्वारा आंकड़े छुपाये जा रहे हैं । राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बताया कि लोक जनशक्ति पार्टी का लक्ष्य केवल सत्ता पाना या सत्ता में रहना नहीं है बल्कि बिहार की आम जनता की पीड़ा को दूर कर बिहारी गौरव की रक्षा हेतु बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट को मजबूत बनाना है। जबकि कुछ दल केवल सत्ता एवं कुर्सी के लिए कोरोना काल में चुनाव कराने की वकालत करके बिहारी आम आवाम को मौत के मुंह में धकेलना चाहते हैं । राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एनडीए के कद्दावर दलित नेता और मंत्री श्याम रजक को जिस तरह से जदयू से निकालते निकालने हुए मंत्री पद से बर्खास्त किया गया उसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया । चिराग पासवान ने स्थानीय निकाय एवं पंचायत प्रतिनिधियों के बीच लोजपा के बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट पैगाम को पहुंचाने तथा उन्हें पार्टी की विचारधारा के साथ जोड़ने का आह्वान किया । 

Post a comment

0 Comments