Ticker

6/recent/ticker-posts

किसानों के साथ नहीं हो शोषण, नहीं तो आन्दोलन

बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में शुक्रवार को पांच सूत्री मांगों के समर्थन में अखिल भारतीय किसान सभा के तत्त्वावधान में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति प्रखंड इकाई ने धरना दिया। किसान नेता एवं स्वतंत्रता सेनानी स्वामी सहजानंद सरस्वती की 17 वीं पुण्य तिथि पर किसान धरना का आयोजन किया गया। किसान नेता अशेश्वर यादव की अध्यक्षता में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि किसान इस कठिन संकट की दौर में अन्न, दूध, फल, सब्जी, अंडा, मांस व मछली का भरपूर उत्पादन कर देश के गोदामों को भरने का काम किया है। किसान भी कोरोना योद्धा साबित हुए हैं। बावजूद किसानों के साथ शोषण किया जा रहा है। जो खेदजनक है। वक्ताओं ने समर्थन मूल्य पर किसानों के मक्का और गेंहू की खरीद अविलंब सुनिश्चित हो व किसानों के पैदावार का एक देश एक रेट के आधार पर भुगतान तय करने की जरुरत है। सभा के अंत में गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैनिकों और ठनका से जिले में मरे सभी 8 लोगों के असामायिक निधन पर दो मिनट का मौन धारण कर शोक संवेदना व्यक्त की गई। मांगों में कोरोना से तबाह किसानों को प्रति एकड़ दस हजार रूपये का भुगतान करने, राजस्व वसूली पर रोक लगाते हुए सिचाई कार्यों में प्रयुक्त बिजली शुल्क माफ़ करने और नदियों की उड़ाही कर सिचाई करने योग्य बनाने सहित अन्य मांगें भी शामिल है।

Post a comment

0 Comments