बेनीपट्टी(मधुबनी)। मधवापुर के जिला परिषद सदस्य श्रवण यादव  ने अब तक फर्जी शिक्षकों पर कार्रवाई नहीं होने पर नाराजगी प्रकट करते हुए जल्द प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की है। श्री यादव ने कहा कि फर्जी शिक्षकों को कोई बचा नहीं सकता है। पूरे मधवापुर में फर्जी शिक्षकों के बहाली नाम पर करोड़ो के वारा-न्यारा किया गया है। वैसे शिक्षकों को मिलीभगत कर वेतन भी दिया गया। जो पूर्णरूप से सरकारी राशि की लूट है। जिप सदस्य ने बताया कि उनके द्वारा पिछले जिप के बैठक में मुद्दा को उठाया गया था। श्री यादव ने कहा कि जांच टीम का गठन हुआ है। लेकिन अब तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है। इस रैकेट में संलिप्त अधिकारी आज भी कानून के दायरे से बाहर है। श्री यादव ने सवाल उठाया कि जिन स्कूल में दो-तीन वर्ष पूर्व शिक्षकों की कमी थी। अचानक शिक्षकों की भरमार हो गयी। आखिर इतने शिक्षक स्कूलों में कहां से आ गए। वहीं जिप सदस्य खुशबू कुमारी ने फर्जी शिक्षकों के मामले को लटकाने का आरोप लगाते हुए कहा कि आखिर अब तक अधिकारी क्या कर रहे है। फर्जी शिक्षक व संलिप्त अधिकारियों के द्वारा लगातार नियम-कानून की धज्ज्यिं उड़ाई जा रही है। सात माह को वेतन भी भुगतान करा लिया गया। श्रीमती कुमारी की माने तो पूरे बेनीपट्टी अनुमंडल की जांच कराई जाये तो फर्जी शिक्षकों की भरमार है। फर्जी शिक्षकों के कारण शिक्षा के स्तर का सत्यानाश हो गया है। इसमें मधवापुर की स्थिति  तो अत्यंत ही खराब है। वहीं कुमारी ने बताया कि जिलाधिकारी के द्वारा एक जांच टीम के गठन होने की बात सामने आयी है। अब देखना है कि जांच टीम कब फर्जीवाड़ा को सतह पर लाकर प्राथमिकी दर्ज कराती है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post