संसाधन व पुलिस कर्मियों के कमी से जूझ रहा बेनीपट्टी थाना - BNN News

Latest

1 May 2018

संसाधन व पुलिस कर्मियों के कमी से जूझ रहा बेनीपट्टी थाना


बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी अनुमंडल का मुख्यालय थाना संसाधन व पुलिस कर्मियों की कमी झेल रहा है। थाना में दारोगा की कमी इस कदर है कि थाना में दर्ज अतिमहत्वपूर्ण कहे जाने वाले एसआर केस भी सहायक अवर निरीक्षक को अनुसंधान के लिए दिए जा रहे है। वही थाना में प्रतिनियुक्त सभी दारोगा व सहायक अवर निरीक्षक के पास काम का बोझ पूर्व से ही है। वही मुख्यालय का थाना होने व बड़ा सर्किल होने के कारण अधिकतर पुलिस को बाहरी काम भी देखना पड़ रहा है। संसाधन की बात करें तो वर्षों पूर्व थाना को मिला जीप इस कदर जर्जरता की भेंट चढ़ चुका है कि जीप से तेज बाजार में साईकिल निकल जाती है। उक्त जीप को कई बार धक्का लगाते हुए भी देखा जा चुका है। गौरतलब है कि बेनीपट्टी में कोर्ट, अनुमंडल समेत कई सरकारी कार्यालय है, जहां पुलिस की आवश्यकता अधिक होती है,वही बेनीपट्टी से लेकर उच्चैठ व शिवनगर तक कई राष्ट्रीय बैंक संचालित की जा रही है। जिसका रोजाना निरीक्षण किया जाना है। ऐसे में पुलिस कर्मियों की परेशानी अधिक बढ़ जाती है।
              चौकीदार के भरोसे थाना का सिरिस्ता कक्ष
बेनीपट्टी थाना में एक ओर जहां हर समय कार्यों का बोझ रहता है। वही थाने का महत्वपूर्ण सिरिस्ता कक्ष एक चौकीदार के भरोसे है। जबकि थाना को मिले मुंसी से वायरलेस ऑपरेटर का काम लिया जा रहा है। जानकारी के अनुसार थाना के वायरलेस ऑपरेटर का पद वर्षों से रिक्त पड़ा हुआ है। बता दे कि शराबबंदी के बाद चौकीदार व दफादारों को बैंक की ड्यूटी से हटाकर क्षेत्र से सूचना संग्रह करने का निर्देश दिया गया था। बावजूद थाना के एक चौकीदार से मुंसी का कार्य वर्षों से लिया जा रहा है। इस स्थिति उक्त चौकीदार के स्तर से प्राप्त होने वाली सूचना संग्रह भगवान भरोसे ही मिल रहा होगा।बता दें कि बेनीपट्टी थाना में फिलवक्त तीन दफादार व करीब 26 चौकीदार कार्यरत है। मात्र 29 सूचना संग्रह करने के लिए तैनात चौकीदार व दफादार से सैंकड़ों गांवों से सूचना संग्रह कराई जा रही है। जो अपने आप में काबिले तारीफ है।
        पांच एसआई व छह एएसआई के भरोसे 19 पंचायत के लोग
बेनीपट्टी थाना अन्य थाना के अपेक्षा अधिक बड़ा है। करीब 19 पंचायत व तेरह राष्ट्रीय बैंक समेत अन्य प्रतिष्ठान की सुरक्षा के लिए विभाग से बेनीपट्टी थाना को महज पांच एसआई व छह एएसआई मिले है। वहीं केस के निष्पादन के निर्देश पर अधिक पुलिस अधिकारियों अक्सर फाईलों में ही उलझे हुए रहते है। जानकारी के अनुसार वर्षों पूर्व बेनीपट्टी थाना में करीब आठ-आठ एसआई की प्रतिनियुक्ति की जाती थी। एसआई के कमी के कारण स्थिति ये है कि एसआर केस भी अनुसंधान के लिए एएसआई को धड़ल्ले से दिया जा रहा है। जबकि ऐसा नियम नहीं है। बता दें कि बेनीपट्टी सर्किंल में करीब 13 बैंक संचालित हो रहे है। वहीं करीब आधा दर्जन पेट्रोल पंप व एक गैस एजेंसी संचालित है। जिसकी सुरक्षा का जिम्मा भी थाना को ही है। बावजूद थाना में पुलिस कर्मियों की तैनाती नहीं की जा रही है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें