Ticker

6/recent/ticker-posts

शिक्षकों के अभाव में पढ़ने से अधिक खेलने में व्यस्त रहते है शिवनगर मध्य विद्यालय के छात्र

बेनीपट्टी (मधुबनी)। बच्चों को स्वस्थ्य बनाने के लिए शिक्षा विभाग का अंडा देने का फरमान धरातल पर नहीं उतर रहा है। शिक्षा विभाग के साथ इस विभाग में लगे कर्मी इस फरमान का हवा निकालने में जुटे हुए है। प्रखंड के शाहपुर पंचायत के शिवनगर गांव के मध्य विद्यालय में इस फरमान की हवा निकल रही है। सप्ताह के शुक्रवार को छात्र अंडा खाने के लिए लालायित रहते है, लेकिन स्कूल प्रबंधन की ओर से अंडा का वितरण नहीं कराया जा रहा है। जबकि स्कूल में करीब 539 छात्र-छात्राएं नामांकित है। वहीं शिक्षकों के अभाव एवं विभागीय प्रशिक्षण पर जाने के कारण स्कूल में नामांकित छात्र पढ़ने के बजाय अधिक खेलने में व्यस्त रहते है। ऐसे में शिक्षा का स्तर किस प्रकार होगा, कहना मुश्किल नहीं है। बावजूद इसकी चिंता न तो प्रबंधन को है, ओर न ही शिक्षा विभाग में बैठे आलाधिकारियों को। जानकारी दें कि उक्त विद्यालय का रंग-रोगन भी वर्षों से नहीं कराया गया है। जिसके कारण स्कूल का भवन खंडहरनूमा प्रतीत हो रहा है। जबकि विकास मद में राशि उपलब्ध है। स्कूल में उपस्कर का अभाव इस कदर है कि छात्रों को जमीन पर बैठकर पढ़ाई करनी पड़ रही है। विद्यालय प्रभारी बैदेही कुमारी ने बताया कि स्कूल में छह शिक्षक प्रतिनियुक्त है। जिसमें विभागीय निर्देशानुसार दो शिक्षक प्रशिक्षण के लिए चले गए है। चार शिक्षक में प्रभारी होने के कारण अक्सर विभागीय कार्य करना पड़ रहा है। वहीं अंडा नहीं दिए जाने के संबंध में प्रभारी ने बताया कि अंडा के स्थान पर छात्रों को फल दिया जाता है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि उक्त स्कूल विभागीय निर्देशानुसार संचालन नहीं हो रहा है।



Post a Comment

0 Comments