Ticker

6/recent/ticker-posts

बाढ़ के तबाही में मंदिर पर शरण लिए है बाढ़ पीड़ित

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी में आये अचानक बाढ़ के कहर ने कई लोगों को बेघर कर दिया। सोमवार की देर शाम बाढ़ के तेज बहाव से पाली के उतरवारी टोल के महराजी बांध के टूट जाने से टोले के कई लोगों को बेघर कर दिया। पीड़ित एसएच-52 पथ से लेकर मंदिर के छतों पर शरण लिए हुए है।कई लोगों को पक्का मकान धंस गया है।सड़क कटाव कर चुका है।पाली के उत्तरवारी टोल में बाढ़ की विभिषिका सबसे अधिक देखी जा रही है।वार्ड न0-03 व वार्ड न0-04 की सुरत ही बदल गयी है।टोले के महादेव झा ने बताया कि सोमवार की देर शाम अचानक बांध के टूटने की खबर मिली। सभी गांव के लोग बांध को बचाने के लिए बांध पर चले गये थे।पानी रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था।अचानक भारी मात्रा में गांव में पानी प्रवेश कर जाने के कारण उनका फूस का मकान जमींदोज हो गया।पीड़ित झा ने बताया कि उस समय शाम होने के कारण उनके परिवार का सभी सदस्य घर से बाहर थे।अगर बांध रात के समय में टूटती तो संभवतः उनका पुरा परिवार जलसमाधि ले चुका होता।घर का सारा समान नष्ट हो चुका था।ऐसे में गांव के हनुमान मंदिर के छत पर शरण लेकर किसी प्रकार जान बचायी।श्री झा ने बताया कि बाढ़ का पानी अब धीरे-धीरे निकल रहा है।बावजूद अब तक एक भी अधिकारी न ही कोई जनप्रतिनिधि उनलोगों का हाल चाल लेने के लिए आया है।गौरतलब है कि उक्त टोले में बांध के टूटने से करीब पांच सौ परिवार पांच दिनों तक मौत व जिंदगी के बीच जूझते रहे।पूर्व मुखिया राजेंद्र मिश्रा ने बताया कि उक्त टोला के ललन मिश्रा, शांतिनाथ झा, रघुनाथ झा, ललित मिश्रा सहित कईयों का घर बाढ़ के पानी में समा गया। कई मकान आधे पर धंस गया।परंतु अभी तक किसी भी स्तर पर राहत नहीं दी गयी है।बाढ़ पीड़ित खूले आसमान के नीचे भूखे पेट सोने को विवश है।वहीं सोईली पुल पर कैंप लगाये कई परिवार के लोगों ने भी बताया कि प्रशासन से अधिक उनलोगों को संगठन के लोग भोजन करा रहे है।शुद्ध पानी नहीं मिल रहा है।



Post a Comment

0 Comments