आधार कार्ड - BNN News

Breaking

आधार कार्ड

अगर आप भारत में रहते हैं तो आधार कार्ड के बारे में जरूर सुना होगा। अगर नहीं सुना तो समझ लीजिये आप अभी काफी पीछे चल रहे हैं। और अगर सुन कर अनसुना कर दिया, तो समझ लीजिये आगे चलकर आप किसी भी परेशानी में पड़ सकते हैं। जी हां अब वो दिन दूर नहीं जब पैन कार्ड, ड्राईविंग लाईसेंस, वोटर आईडी कार्ड को छोड़ सिर्फ आधार कार्ड को वरीयता दी जायेगी। 

चाहे टेलीफोन कनेक्‍शन हो, गैस बुकिंग, पासपोर्ट या कोई भी सरकारी काम। अगर आपके पास आधार कार्ड है, तो आप कई झंझटों से मुक्ति पा सकते हैं। यानी आपके सभी काम सुगम हो सकते हैं। अगर आपने अपना आधार कार्ड अभी नहीं बनवाया है, तो आज ही अप्‍लाई करें। कैसे अप्‍लाई करना है, वो हम आपको बतायेंगे। 


आधार कार्ड प्राप्‍त करने की प्रक्रिया एवं उससे जुड़ी अहम बातें- 


1. आधार में पंजीकरण एकदम नि:शुल्‍क है और यह केवल एक बार पूरी की जाने वाली प्रक्रिया है। आप भारत में कहीं से भी इसके लिये आवेदन कर सकते हैं। जरूरी नहीं कि आप अपने गृह जनपद से ही आवेदन करें। एक बार कार्ड मिलने के बाद दोबारा आवेदन नहीं कर सकते, क्‍योंकि एक व्‍यक्ति को एक ही बार यह कार्ड जारी होता है। 


2. इसके लिये आप अपने साथ मान्‍यता प्राप्‍त एड्रेस प्रूफ, आईडी प्रूफ लेकर करीबी आधार पंजीकरण केंद्र पर जायें। 


3. यहां आपको किन डॉक्‍यूमेंट यानी कागजात की जरूरत होगी? आधार कार्ड के लिये पहचान पत्र और एड्रेस प्रूफ यानी पते का साक्ष्‍य चाहिये। आम तौर पर एड्रेस प्रूफ के लिये वोटर आईडी कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राईविंग लाईसेंस लगा सकते हैं। एड्रेस प्रूफ के लिये पानी, बिजली, टेलीफोन के बिजली के बिल भी संलंग्‍न कर सकते हैं। यदि आपके पास इनमें से कुछ नहीं है, तो आप सांसद, विधायक, ग्राम पंचायत या किसी गैजेटेड अधिकारी द्वारा सत्‍यापित अपने पते का प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। वहीं फोटो आईडी के लिये पैन कार्ड या सरकारी आईडी कार्ड लगा सकते हैं।


 4. क्‍या होगा यदि आपके डॉक्‍यूमेंट मान्‍य नहीं हैं? यदि आपके परिवार में किसी व्‍यक्ति के पास मान्‍य डॉक्‍यूमेंट नहीं हैं तो भी वो आधार कार्ड के लिये आवेदन कर सकता है। उस स्थिति में उसे अपने परिवार के उस सदस्‍य के प्रमाण पत्र लगाने होंगे, जिसके पास उक्‍त पत्र होंगे। यदि परिवार के मुखिया के पास सभी जरूरी प्रमाण पत्र हैं, तो वो यूआईडीएआई में अपने रिलेशनशिप यानी संबंध दिखाते हुए प्रमाण पत्र जमा कर सकता है। यदि प्रमाण पत्र नहीं हैं, तो आप इंट्रोड्यूसर को लेकर जा सकते हैं। इंट्रोड्यूसर रजिस्‍ट्रार ऑफिस से सत्‍यापित होना चाहिये।

 5. पंजीकरण केंद्र पर कृपया अपने फॉर्म को भरें। वहां आपकी फोटो खींची जायेगी, आपकी उंगलियों के निशान लिये जायेंगे और आंखों की पुतलियों के इंप्रेशन भी लिये जायेंगे।

 6. आप सिर्फ एक बार ही पंजीकरण करा सकते हैं। बार-बार पंजीकरण कराना समय नष्‍ट करना है, क्‍योंकि आपको सिर्फ एक आधार नंबर ही मिलेगा।


 7. सूचनाओं के आधार पर आपका वैरिफिकेशन किया जायेगा। यदि आपका आवेदन सफल होता है, तो आपको एक आधार नंबर दिया जायेगा और आपके पते पर भेज दिया जायेगा।


 8. कितने दिन इंतजार करें? आधार के लिये पंजीकरण कराने के बाद सारी प्रक्रिया पूरी होने में 60 से 90 दिन तक लगते हैं। यदि आपका कार्ड तीन महीने तक नहीं आता है, तो आप केंद्र पर संपर्क कर सकते हैं। 


9. इस कार्ड के लिये आपकी उंगलियों के निशान एवं पुतलियों के इंप्रेशन लिये जाते हैं। इनकी क्‍वालिटी का खास ध्‍यान रखा जाता है, ताकि किसी अन्‍य से मैच न करें। क्‍वालिटी खराब है, तो आपको दोबारा बुलाया जा सकता है। 


10. इसके अलावा इंट्रोड्यूसर, सुपरवाइजर, पंजीकरण एजेंसी या रजिस्‍ट्रार की ओर से यदि कोई कमी रह गई, तो भी आपका आवेदन रुक सकता है। सभी चीजें सही होने पर ही काड्र मिलेगा। 


11. आपने जो प्रमाण पत्र जमा किये हैं, यदि उनमें कोई त्रुटी है, तो भी आपका आधार कार्ड रुक सकता है। लिहाजा जो प्रमाण पत्र आप जमा कर रहे हैं, उनमें भी यह सुनिश्चित कर लें कि कोई गलती नहीं हो। उदाहरण यदि आपके वोटर आईडी कार्ड पर जन्‍म तिथि 04-10-1988 लिखी है, ज‍बकि असली जन्‍म तिथि 04-10-1978 है और आप वोट डालने गये और साथ में अपना पैन कार्ड भी ले गये, और चुनाव अधिकारी ने आपको पैन कार्ड के आधार पर वोट देने दिया, तो यह मत समझें कि आधार कार्ड में भी चल जायेगा। वहां एक भी प्रमाण पत्र में गलती हुई तो अवेदन वहीं रुक जायेगा। 


12. पहली बात तो यह कि ऐसा होने पर पंजीकरण केंद्र खुद आपको संपर्क करेगा, यदि वो संपर्क नहीं करते हैं, तो आप एक सादे कागज पर एप्‍लीकेशन के माध्‍यम से उनसे पूछ सकते हैं। 


13. मुझे कार्ड कैसे मिलेगा? आपकी आधार संख्‍या यानी यूआईडी मिलने के बाद भारतीय डाक द्वारा आपके घर पर भेज दिया जायेगा।



UIDAI - Official Website



मिथिला दर्शन  |  अप्पन मिथिला  |  अप्पन बेनीपट्टी  |  मिथिला बिभूति  |  मिथिलाक पाबैन  |  मैथिलि गीत नाद   |  मैथिलि फकरा  |  मिथिला पंचांग  |   सोशल साइट्स टिप्स ट्रिक्स  |  फोटो गैलरी  |  विधानसभा चुनाव 2015  |  देश प्रदेश   |  क्षेत्रीय समाचार  |  स्थानीय समस्या  |   क्राइम रिपोर्ट  |  प्रशासन    शिक्षा रोजगार  |  विधि खबर  |   BNN विशेष  |  खास मुलाकात   | संपादकीय  |  खबर का असर  |  घटना-दुर्घटना  ।  BNN टीम 




No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें