सीएसपी की राशि लूट व लोहा में हुए डकैती का अब तक नहीं हुआ उद्भेदन - BNN News

Breaking

16 Nov 2018

सीएसपी की राशि लूट व लोहा में हुए डकैती का अब तक नहीं हुआ उद्भेदन

बेनीपट्टी(मधुबनी)। वर्ष-2018 का अब तक का सबसे चर्चित बेनीपट्टी के सीएसपी लूटकांड का अब तक उद्भेदन नहीं हो सका है। पुलिस अभी भी अंधेरे में ही तीर मार रही है। कहा तो ये जा रहा था, कि अपराधियों के स्कैच उपलब्ध हो चुकी है। एसआईटी छापेमारी कर रही है, लेकिन अब तक कांड के उद्भेदन के लिए गठित एसआईटी को कोई सफलता नहीं मिल सकी है। वहीं अरेड़ के लोहा चौक के सेवानिवृत शिक्षक रामकृपाल झा के घर हुई डकैती के मामले में भी कोई प्रगति नहीं दिखाई दे रही है। पूर्व में हुए डकैती के मामलों को भी पुलिस खंगाल चुकी है, बावजूद पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लग सका है। अलबत्ता, डकैती के चार दिन के बाद पुलिस को डकैतों के द्वारा रखे गए तीन जिंदा बम अवश्य बरामद हुए। सूत्रों की माने तो पुलिस शिथिल पड़ चुकी है। जिसके कारण कोई सफलता नहीं मिल रही है।
      दीपावली से एक दिन पूर्व गोली से थर्रा उठा था बेनीपट्टी
बेनीपट्टी के स्टेट बैंक के सामने संचालित एसबीआई के ग्राहक सेवा केन्द्र की राशि लूट के लिए दो बाईक सवार अपराधियों ने गत 06 नवंबर को तड़ातड़ सात-आठ राउंड गोली चलाई। इस दौरान अपराधियों ने पान दुकानदार गोपाल कामत, संचालक के पुत्र चन्द्रमोहन प्रसाद व एक कर्मी धर्मेंद्र कुमार को गोली मार कर बुरी तरह से जख्मी कर सीएसपी के पांच लाख बिरानवे हजार की राशि लूट कर फरार हो गया। घटना सुबह के करीब ग्यारह बजे ही थी। इस दौरान कार्य में लापरवाही बरतने को लेकर पूर्व एसएचओ सह पुलिस निरीक्षक हरेराम साह को देर रात पुलिस अधीक्षक के अनुशंसा पर डीआईजी से निलंबित कर दिया। घटना से पूरे बेनीपट्टी बाजार में दहशत कायम हो गया। घटना को गंभीरता से लेते हुए एसपी ने मामले के उद्भेदन के लिए विशेष जांच टीम का गठन कर दिया। बावजूद घटना के करीब दस दिनों के बाद भी घटना रहस्मय बना हुआ है।
लूट की होती जांच की हो गयी लोहा में डकैती
बेनीपट्टी में हुए लूटकांड में एसएचओ पर गाज गिर जाने से पुलिस अधिकारी सतर्कता के साथ मामले की जांच कर रहे थे, कि दिवाली की रात डकैतों ने पुलिस के लचर रवैया का फायदा उठाते हुए लोहा के सेवानिवृत शिक्षक रामकृपाल झा के घर में प्रवेश कर करीब एक दर्जन डकैतों ने गृहस्वामी के नाती को हथियार के बल पर कब्जा कर  करीब आधे घंटे तक डाकेजनी की। इस घटना से जिला पुलिस महकमा भी सकते में आ गया। देर रात ही घटनास्थल पर एसपी पहुंच गए। पूरी रात छापेमारी होती रही, लेकिन कोई फलाफल अब तक सामने नहीं आया है।
पैक्स अध्यक्ष के गिरफ्तारी नहीं होने से पुलिस पर उठ रहे सवाल
बेनीपट्टी थाना के निष्क्रियता के कारण आर्थिंक अपराध के मामलों के नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से पुलिस पर सवाल उठ रहे है। वर्ष-2018 में आर्थिक अपराध के तहत कई मामले दर्ज हुए, लेकिन विडंबना है कि किसी भी मामले के मुख्य आरोपी तक पुलिस नहीं पहुंच सकी। मनपौर के पैक्स में केसीसी लोन के फर्जीवाड़ा के आरोपी पैक्स अध्यक्ष अब तक पुलिस के गिरफ्त से बाहर है। हैरत है कि पुलिस जहां पैक्स अध्यक्ष के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की बात करती है, वहीं पैक्स अध्यक्ष सह जनवितरण प्रणाली विक्रेता गोदाम से खाद्यान्न का भी उठाव कर लेते है। शिकायतकर्ता की माने तो पैक्स अध्यक्ष के मामले में पुलिस शुरु से नरमी बरत रही है। उधर, सूत्रों की माने तो उक्त मामले में एक और पैक्स अध्यक्ष पर पुलिस कार्रवाई करेगी। उक्त पैक्स अध्यक्ष के खिलाफ भी पुलिस को सबूत मिले है।
पुलिस कर रही सभी मामलों की जांच, जल्द होगा खुलासा : एसडीपीओ
सीएसपी लूटकांड व लोहा में हुए डकैती कांड की पुलिस सभी विंदूओं पर जांच कर रही है। जांच संतोषजनक है। जल्द ही मामले का उद्भेदन कर दिया जाएगा। पुलिस सभी मामलों की अनुसंधान कर रही है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें