पुलिस इंस्पेक्टर सदर मधुबनी के नाम स्पीड पोस्ट से भेजा गया एक धमकी भरा पत्र कथित प्रेषक के घर वापस लौट गया। बताया जा रहा है कि यह पत्र 11 जनवरी को दोपहर डेढ़ बजे राजनगर डाकघर से स्पीड पोस्ट के माध्यम से भेजा गया था। दस ग्राम वजनी यह पत्र 22 रुपये भुगतान कर स्पीड पोस्ट किया गया था। 

1

हालांकि, 12 जनवरी को पुलिस निरीक्षक सदर मधुबनी को किसी कारणवश डिलीवर नहीं हुआ। वहां से यह पत्र लौटकर कथित प्रेषक के स्वजन के पास आ गया, जिसके बाद इलाके में सनसनी फैल गई। धमकी भरे पत्र के नीचे आपका विश्वासी नेपाली गैंग का सरदार एवं सदस्य, जय नेपाल-जय चीन लिखा गया है। 

2

यह पत्र हस्तलिखित नहीं बल्कि टंकित है। हालांकि, इस पत्र पर किसी का हस्ताक्षर नहीं है। टंकित पत्र के उपर श्रीमान पुलिस निरीक्षक महोदय सदर मधुबनी कलम से लिख गया है। वहीं, इस पत्र के लिफाफे पर प्रेषक के रूप में अरुण सिंह, पिता-स्व. उत्तीम सिंह, ग्राम एवं पोस्ट महेशवाड़ा, वाया खजौली, जिला-मधुबनी लिखा है।


कथित प्रेषक के घर यह धमकी भरा पत्र लौटने के बाद पूरे गांव में जोरों पर चर्चा चल रही है। हालांकि, इस मामले की जानकारी बाबूबरही थाना पुलिस को नहीं थी। पुलिस के संज्ञान में जब मामला आया तो थानाध्यक्ष राहुल कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जाएगी। बताया जा रहा है कि यह पत्र शुक्रवार को वापस आया था। हालांकि, अब जांच के बाद ही पता चलेगा कि यह किसी शरारती तत्वों का काम है या कथित गैंग के सरदार द्वारा ही भेजा गया था।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post