मधुबनी। कीर्तन भवन से सटे तालाब को भू माफियाओं के द्वारा सरकारी गैर सरकारी तालाबों को अतिक्रमण किया जा रहा है जिससे आने वाले समय में जिले में एक  भी तालाब नजर नहीं आएंगे। जिस पर जिला प्रशासन भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की जगह उनको को बढ़ावा दे रहे है। 

1

उक्त बातें समाहरणालय समक्ष नागरिक अधिकार मंच के अमरेश श्रीवास्तव ने धरना के माध्यम से कहा है। धरना को संबोधित करते हुए अमरेश श्रीवास्तव ने कहा कि तालाबों के मधुबनी शहर से  किसी भी कीमत पर  विहीन नहीं होने देंगे। आगे कहां भूमि माफियाओं ,सीओ रहिका, थाना प्रभारी मधुबनी के षड्यंत्र को सफल नहीं होने देंगे। मंच यह लड़ाई रोड से कोर्ट तक लड़ने को तैयार है। आगे कहा नगर अध्यक्ष राजा कुमार, रहिका सीओ के द्वारा जांच के नाम पर केवल खानापूरी किया जाता  है, भु माफियाओं को बढ़ावा देते हैं। 

2

उन्होंने बताया कि सरकारी एवं गैर सरकारी तालाबों को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने भी इनको ही कस्टोडियन मानते हुए जलाशय को बचाने की जिम्मेवारी सौंपी है। बताया कि माननीय हाईकोर्ट,केंद्र सरकार, राज्य सरकार,सभी ने इन्हीं पदाधिकारियों पर भरोसा जताया है। 

उन्होंने जिलाधिकारी से अनुरोध करते हुए कहा कि नगर थानाध्यक्ष राजा कुमार तथा  रामप्रवेश प्रसाद के द्वारा भू माफियाओं से सांठगांठ एवं उनके कार्यकाल में जितने भी सरकारी तालाबों को अधिक्रमित किया गया है।

उन्हों ने बताया कि सीओ ऑफिस महाराजगंज में गैर सरकारी माफियाओं के सहयोग के लिए बैठाए गए फर्जी कर्मचारी अजय कुमार को अविलंब गिरफ्तार किया जा। सभी पर जांच कर कानूनी कार्रवाई एवं दंडित किया जाए और दोनों पदाधिकारियों की संपत्ति की जांच एजेंसी से करवाया जाए। धरना पर उमेश महतो, महेंद्र यादव, वेदप्रकाश,लक्ष्मी प्रसाद,गरीब दास,राजन झा सहित दर्जनों सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post