हरलाखी(मधुबनी)। मिथिला स्टूडेंट यूनियन के द्वारा उत्क्रमित मध्य विद्यालय हिसार के प्रांगण में बैठक किया, जिसका अध्यक्षता संतोष साह ने किया, इस बैठक में वक्ता के रूप में एमएसयू के जिला अध्यक्ष राघवेंद्र रमण, मिथिला राज्य आंदोलन के जिला प्रभारी अजय यादव उपस्थित थे, बैठक को संबोधित करते 
हुए राघवेंद्र रमण ने कहा की एमएसयू सात सालों से मिथिला में बेहतर शिक्षा बेहतर स्वास्थ्य और रोजगार को लेकर आंदोलन करते आया है पर वर्तमान की सरकार ने हमारे माँगो पर संज्ञान तक नही लिया है। इसलिए सालों पुराना माँग मिथिला को अलग राज्य बनाने का है जो भारत के आजादी के समय से है। एमएसयू अब तय किया है कि हम एक सूत्रीय मांग को लेकर लड़ाई लड़ेंगे जो हमें हमारा राज्य अलग किया जाये। जिससे हम अपनी क्षेत्र के तमाम समस्याओं को निराकरण कर सके। केन्द्र सरकार भारत दर्शन कार्यक्रम के तहत तमाम धार्मिक जगहों पर ट्रेन के माध्यम से देश के लोगों को घुमाने जा रही है पर मिथिला क्षेत्र के तमाम जगहों को भारत के धार्मिक नक्शों से ही हटा दिया गया है।

1

हमारे धार्मिक स्थलों को देश के मैप में शामिल किया गया होता तो आज हजारों के संख्या में पर्यटक आते है यहाँ के लोगों को रोजगार मिलता पर सरकार हमारे इतिहास को खत्म करना चाहती है, सबसे पहले हमारे भाषा को खत्म किया हमारे लिपि को खत्म किया हमारे संस्कृति को खत्म किया अब हमारे धरोहरों को खत्म करना चाहती है। इस लिए एमएसयू गांव गांव जाकर लोगों को जगाने का काम कर रही है और आपसे आग्रह कर रही है कि ये लड़ाई एमएसयू का नही आप सब का है हम सबका है इसलिए हम सबको एकजुट हो कर ये लड़ाई को लड़ने का समय आ गया है। 

2

मिथिला राज्य आंदोलन की शुरुआत हो चुकी है 21 अगस्त को दिल्ली में संसद भवन घेराव किया जा रहा है। इसमें शामिल हो कर आंदोलन को मजबूती प्रदान करे। बैठक में सुरेंद्र राम, उपेन्द्र पासवान, रामसुंदर पासवान,राकेश मंडल,सीतेश कुमार साफी, शेलेंद्र बैठा, मो० अजीम, सुभाष कुमार साह, रामेश्वर साह, गुड़ु झा के साथ अन्य लोग उपस्थित थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here



ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post