बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी व्यवहार न्यायालय परिसर में शनिवार को बिहार राज्य विधिक सेवा प्राधिकार पटना के सदस्य सचिव के निर्देश के आलोक में राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार नई दिल्ली के आदेशानुसार अनुमंडल विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष सह अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सुनील कुमार त्रिपाठी व समिति के सचिव सह एसडीजेएम रंजीत कुमार सोनू की देख-रेख में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें दो पीठों का गठन कर न्यायाधीशों की अध्यक्षता में सुनवाई कर मामले का निष्पादन किया गया। पहले पीठ में एसीजेएम सुनील कुमार  त्रिपाठी व अधिवक्ता सदस्य प्रशांत कुमार ठाकुर व दूसरे पीठ में एसडीजेएम रंजीत कुमार सोनू व अधिवक्ता सदस्य सुशील कुमार श्रीवास्तव शामिल हुए। इस दौरान सभी न्यायाधीशों ने बारी-बारी से संबोधित कर कहा कि 1995 में उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार इस अदालत का गठन किया गया था। सुलहनिय वादों का निपटारा कर लोगों को सरल, सुलभ, सस्ता व त्वरित न्याय दिलाने के लिये राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाता है। अदालत में अपराधिक मामले, बैंक, विधुत, दूरसंचार व वन विभाग सहित अन्य विभागों के करीब सौ मामलों का निष्पादन किया गया। जिसमें 23 लाख 84 हजार 103 रुपये की राजस्व वसूल की गयी। निष्पादन किये गये मामलों में बैंक ऋण से संबंधित कुल 1750 मामलों में 49 मामलों का निष्पादन कर 22 लाख 54 हजार 538 रुपये वसूल किये गये। 

1

वहीं बिजली विभाग के 27 मामलों से 48 हजार रुपये और बीएसएनएल के 282 मामलों में 19 मामले का निष्पादन कर 31 हजार 127 रुपये सहित सभी तरह के मामलों से कुल 23 लाख 84 हजार 103 रुपये के समझौता राशि के रूप में राजस्व की वसूल की गयी। 

2

वहीं एसीजेएम द्वितीय सुनील कुमार त्रिपाठी, न्यायाधीश रंजीत कुमार सोनू ने चल रहे लोक अदालत की कार्यवाही का जायजा लिया और निपटारे पर संतोष व्यक्त किया। बता दें कि इस लोक अदालत में सम्बंधित प्रतिष्ठानों के प्रतिनिधि सहित कई लोग शामिल हुए। मौके पर विधिक सेवा समिति के मो. सलमान व महेंद्र प्रसाद सहित अन्य लोग भी मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post